प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना से कानपुर में 80,837 महिलाएं हुई लाभान्वित

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना से कानपुर में 80,837 महिलाएं हुई लाभान्वित
80837-women-in-kanpur-benefited-from-pradhan-mantri-matru-vandana-yojana

कानपुर,16 जून (हि.स.)। गर्भवती महिलाओं के बेहतर स्वास्थ्य की देखभाल के लिए केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना का लाभ जनपद की महिलाएं उठा रही है। जनपद में प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना का लाभ अधिक से अधिक गर्भवती महिलाओं को दिलाने के लिए स्वास्थ्य विभाग हर स्तर से प्रयास कर रहा है। यह योजना जिले में 01 जनवरी 2017 से संचालित की जा रही है। योजना के तहत पहली बार गर्भवती, स्तनपान कराने वाली माताओं को उचित खानपान एवं पोषण के लिए तीन किश्तों में पांच हजार रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। इसमें अब तक कुल 80,837 गर्भवती महिलाओं को लाभान्वित कराया जा चुका है। यह जानकारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. नेपाल सिंह ने दी। उन्होंने बताया कि, वैश्विक महामारी कोरोना काल में महिलाओं को इस लाभ से बहुत राहत मिली है। इस योजना के अंतर्गत प्रथम बार गर्भवती होने पर महिलाओं को उनके खाते में सरकार द्वारा 5000 रुपये तीन किस्तों में दी जाती है। अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. एसके सिंह ने बताया कि इस योजना के तहत पहली बार गर्भ धारण करने वाली महिला को गर्भधारण के बाद रजिस्ट्रेशन कराने पर प्रथम किस्त के रूप में एक हजार रुपये एवं दूसरी किस्त पर गर्भवती महिला को अपनी प्रसव पूर्व जांच हो जाने पर दो हजार रुपये एवं तीसरी किस्त प्रसव के बाद बच्चे को सभी टीके लग जाने के साथ ही दो हजार रुपये दिए जाते हैं। योजना के जिला कार्यक्रम समन्वयक डॉ. गजाला ने बताया कि प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना का लाभ लेने के लिए प्रथम बार गर्भ धारण करने वाली पात्र महिला लाभार्थी राज्य स्तर से जारी हेल्पलाइन नम्बर 7998799804 व क्षेत्रीय आशा एवं एएनएम से संपर्क करें और योजना का लाभ उठाएं। उन्होंने बताया कि 01 जनवरी 2017 से अब तक 80,837 प्रथम बार गर्भवती होने वाली महिलाओं को योजना का लाभ मिल चुका है। प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना का उददेश्य गर्भावस्था, प्रसव और स्तनपान के दौरान महिलाओं को जागरूक करना और जच्चा-बच्चा देखभाल और संस्थागत सेवा के उपयोग को बढ़ावा देना। महिलाओं को पहले छह महीनों के लिए प्रारंभिक और विशेष स्तनपान और पोषण प्रथाओं का पालन करने के लिए प्रोत्साहित करना। गर्भवती और स्तनपान कराने वाली माताओं को बेहतर स्वास्थ्य और पोषण के लिए नकद प्रोत्साहन प्रदान करना। आवेदन के लिए जरूरी दस्तावेज आधार कार्ड की फोटोकॉपी, बैंक या पोस्ट ऑफिस खाता की पासबुक, आधार न होने पर पहचान संबंधी अन्य विकल्प, पीचएसी या सरकारी अस्पताल से जारी स्वास्थ्य कार्ड, सरकारी विभाग, कम्पनी और संस्थान से जारी कर्मचारी पहचान पत्र। हिन्दुस्थान समाचार/ महमूद