उप्र : कोरोना संक्रमित के 24 घण्टे में आये 4164 नये मामले

उप्र : कोरोना संक्रमित के 24 घण्टे में आये 4164 नये मामले
4164-new-cases-of-corona-infection-in-24-hours

लखनऊ, 04 अप्रैल (हि.स.)। उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने लोक भवन में रविवार को पत्रकारों को बताया कि पिछले एक दिन में कुल 1,77,695 सैम्पल की जांच की गयी। अब तक कुल 3,54,13,966 सैम्पल की जांच की गयी है। कोरोना के बढ़ते संक्रमण पर चिंता जताते हुए कहा कि पिछले 24 घंटे में उप्र में कोरोना से संक्रमित 4164 नये मामले आये हैं। प्रदेशवासियों को कोविड के नियमों का पालन करते हुए सावधानी बरतने की जरूरत है। श्री प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में 19,738 कोरोना के एक्टिव मामले में से 10,666 लोग होम आइसोलेशन में हैं। प्रदेश में अब तक 6,01,440 लोग कोविड-19 से ठीक होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। बताया कि निजी चिकित्सालयों में 434 मरीज अपना इलाज करा रहे है, इसके अतिरिक्त शेष मरीज सरकारी चिकित्सालयों में निशुल्क इलाज करा रहे हैं। उन्होंने बताया कि प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,90,117 क्षेत्रों में 5,17,507 टीम दिवस के माध्यम से 3,17,06,947 घरों के 15,38,31,874 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है। उन्होंने बताया कि अपने हाथ को साबुन-पानी से निरन्तर धोते रहें। जब हाथ को धोएं तो कम से कम 30 सेकण्ड तक धोते रहें, जिससे विषाणु नष्ट हो जायें, और जहां भी जाइये लोगों से दो गज की दूरी अवश्य बनाएं, और भीड़भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचें। कोशिश करें कि घर के बड़े-बुजुर्गों का टीकाकरण अवश्य कराएं। बताया कि, निजी चिकित्सालयों में वैक्सीनेशन के एक डोज का 250 रूपये भुगतान करना होगा। जिन लोगों ने पहली डोज लेने के बाद अभी तक नहीं ली है उनसे अपील है कि वे तत्काल दूसरी डोज अवश्य लें क्योंकि प्रदेश में एक अनूठी योजना चलाई जा रही है जिसमें 07 अप्रैल को विश्व स्वास्थ्य दिवस के अवसर पर लाॅटरी भी निकालने की योजना है। जिन जिलों में ऐसे 25000 लोग होंगे जिनकी दोनों डोज हो गयी हैं वहां हम लाॅटरी निकालकर 04 उपहार देंगे। जिन जिलों में 25 से 50 हजार हैं उनमें हम 06 उपहार देंगे और उससे अधिक वालों में 08 उपहार देंगे। श्री प्रसाद ने बताया कि ‘मेरा कोविड केन्द्र’ ऐप डाउनलोड करके मालूम कर सकते हैं कि घर के आस-पास कौन से ऐसे केन्द्र हैं जहां आपकी जांच मुफ्त हो सकती है। या महानिदेशक स्वास्थ्य के वेबसाइट पर जाकर इन सभी केन्द्रों की सूची देखी जा सकती है। अपने जिले के मुख्य चिकित्साधिकारी तथा जो जिले में इन्टीग्रेटेड कोविड कमाण्ड सेंटर है, उस पर फोन करके सूचना दे सकते हैं, जिससे आपकी जांच निःशुल्क करवायी जा सके। बताया कि, निजी प्रयोगशाला में जांच के लिए 700 रूपये का भुगतान करना होगा। घर से सैम्पल कलेक्ट किया जायेगा तो 900 रूपये का भुगतान करना होगा। अगर आपसे कोई इस शुल्क से अधिक राशि की मांग करता है तो जिले के मुख्य चिकित्साधिकारी या हेल्पलाइन नं0-18001805145 पर शिकायत दर्ज कर सकते हैं। श्री प्रसाद ने बताया कि, मुख्यमंत्री के निर्देश पर सभी मुख्य चिकित्साधिकारी को और चिकित्सा शिक्षा विभाग को निर्देशित किया गया है कि जनपदों में जो भी कोविड के अस्पताल हैं, चाहे वो सरकारी या निजी क्षेत्र के हों, हर एक अस्पताल के लिए नोडल अधिकारी की तैनाती की जायेगी। नोडल अधिकारी इस बात को सुनिश्चित करेंगे कि इलाज गुणवत्ता से किया जा रहा है और अस्पताल में सभी व्यवस्थाएं पर्याप्त संख्या और मात्रा में उपलब्ध है। अगर कहीं पर अधिक धनराशि लेने की शिकायत या कोई बात होगी उसको भी नोडल अधिकारी द्वारा देखा जायेगा। इस समय विशेष सावधानी बरतने की आवश्यकता है। संक्रमण अभी समाप्त नहीं हुआ है इसलिए टीकाकरण के बाद भी कोविड प्रोटोकाॅल का पालन अवश्य करें। हिन्दुस्थान समाचार/राजेश