रायबरेली के दो गांवों में 15 दिनों के भीतर 32 की मौत, गांव वाले दहशत में

रायबरेली के दो गांवों में 15 दिनों के भीतर 32 की मौत, गांव वाले दहशत में
32-deaths-within-15-days-in-two-villages-of-rae-bareli-villagers-in-panic

रायबरेली, 07 मई(हि.स.)। कोरोना संक्रमण से ग्रामीण इलाकों में भी मौतों का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। रायबरेली के दो गांवों में ही करीब 32 लोगों की अब तक मौत हो चुकी है और गांव का हर आदमी ज़ुखाम और बुख़ार से पीड़ित है। हालांकि यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि इनमें कितनी मौते संक्रमण के कारण हुई है। बावजूद इसके अभी तक इन गावों में कोई स्वास्थ्य टीम नहीं पहुंची है और न ही लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण हो सका है। रायबरेली के सुल्तान खेड़ा गांव में 15 दिनों के भीतर 17 लोगों की मौत हो चुकी है। इस गांव में अधिकतर लोग बुख़ार से पीड़ित हैं और ज़्यादातर में कोरोना के शुरुआती लक्षण दिख रहे हैं। लेकिन कई बार गांव वालों की शिकायत के बावजूद अभी तक स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव नहीं पहुंच सकी है। गांव वाले दहशत में है। सुलतानखेड़ा की आबादी करीब 2100 है और शायद कोई परिवार ऐसा हो जिसका कोई सदस्य बुख़ार से पीड़ित न हो। इस संबंध में गांव वालों में सीएमओ डॉ वीरेन्द्र सिंह से जांच और सेनेटाइजेशन की मांग की है लेकिन अभी तक कुछ भी नहीं हुआ। इतनी ज्यादा मौतों से गांव में दहशत है। इसके अलावा रायबरेली में दीनशाह गौरा के थुलराई में अब तक 20 दिनों में 15 लोगों की मौत हो चुकी है। गुरुवार को ही गांव के तीन लोगों की मौत हुई है। इनमें एक पूर्व बीएसए व उनकी बहू सहित गांव का अन्य व्यक्ति है। गांव के ज्यादातर लोग बुख़ार आदि से पीड़ित है बावजूद इसके कोई भी जांच टीम नही पहुंची है। गांव वालों में लगातार हो रही इन मौतों से दहशत है और रोज किसी अनहोनी की आशंका से सब परेशान। इस संबंध में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ वीरेन्द्र सिंह का कहना है कि स्थानीय सीएससी से टीम इन गांवों में भेजी गई है और सभी का परीक्षण कराया जा रहा है। संक्रमित को होम आइसोलेशन में जरूरी चीजें उपलब्ध कराई जा रही है। हिन्दुस्थान समाचार/रजनीश