213-lakh-farmers-registered-for-sale-of-wheat-purchase-55-mt-in-three-days
213-lakh-farmers-registered-for-sale-of-wheat-purchase-55-mt-in-three-days
उत्तर-प्रदेश

उप्र: गेहूं बिक्री के 2.13 लाख किसानों ने कराया पंजीकरण, तीन दिन में 55 मी.टन खरीद

news

-किसानों की सुविधा के लिए इस वर्ष ऑनलाइन टोकन की व्यवस्था लखनऊ, 03 अप्रैल (हि.स.)। प्रदेश में 01 अप्रैल से क्रय केन्द्रों पर गेहूं खरीद जारी है। अब तक 2,13,000 किसानों ने इसी बिक्री के लिए अपना पंजीकरण करा लिया है। बीते तीन दिन में 55 मीट्रिक टन गेहूं की खरीद की जा चुकी है। किसानों की सुविधा के लिए इस वर्ष ऑनलाइन टोकन की व्यवस्था की गयी है। अपर मुख्य सचिव, सूचना डॉ. नवनीत सहगल ने शनिवार को बताया कि गेहूं खरीद 15 जून तक प्रातः 09 से सायं 06 बजे तक जारी रहेगी। इस बार न्यूनतम समर्थन मूल्य 1,975 रुपये प्रति कुन्तल पर खरीद की जा रही है। किसान अपनी सुविधा के अनुसार अपने राजस्व ग्राम से सम्बद्ध नजदीकी क्रय केन्द्र पर गेहूं विक्रय के लिए टोकन स्वयं ऑननलाइन प्राप्त कर सकते हैं। क्रय केन्द्रों पर बिना टोकन के भी किसानों से खरीद की जायेगी। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीद किये जाने के लिए 6,000 क्रय केन्द्र स्थापित किये जा रहे हैं। सप्ताह में तीन दिन लघु एवं सीमान्त किसानों से ही खरीद की की जायेगी। उन्होंने बताया कि किसानों को क्रय केन्द्रों पर जाकर अधिक से अधिक गेहूं देना चाहिए। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी मण्डलायुक्त, जिलाधिकारियों को क्रय केन्द्रों पर समय-समय पर निरीक्षण करने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा है कि गेहूं क्रय केन्द्रों पर किसानों की सुविधाओं का पूरा ध्यान रखा जाए। क्रय केन्द्रों पर किसानों के बैठने व पेयजल आदि की व्यवस्था रहे। यह सुनिश्चित किया जाए कि किसानों को अपनी उपज बेचने में कोई असुविधा न हो। गेहूं क्रय केन्द्रों पर प्रतिदिन की खरीद की समीक्षा करते हुए इसकी रिपोर्ट शासन को उपलब्ध कराने के भी निर्देश दिए हैं। डॉ. सहगल ने कहा कि प्रदेश सरकार किसानों के हितों के लिए कृतसंकल्प है। इससे पहले 01 अक्टूबर, 2020 से 28 फरवरी, 2021 तक 66 लाख मीट्रिक टन का रिकार्ड धान खरीदा गया, जो कि पिछले वर्ष से लगभग 120 प्रतिशत अधिक है, यह अपने आप में एक रिकार्ड है। हिन्दुस्थान समाचार/संजय