21 दिसम्बर  को मनाया जाएगा “खुशहाल परिवार दिवस”
21 दिसम्बर को मनाया जाएगा “खुशहाल परिवार दिवस”
उत्तर-प्रदेश

21 दिसम्बर को मनाया जाएगा “खुशहाल परिवार दिवस”

news

आगरा, 20 दिसम्बर (हि.स.)। परिवार नियोजन कार्यक्रम को बढ़ावा देने के लिए इस बार 21 दिसम्बर को आयोजित होने वाले दूसरे 'खुशहाल परिवार दिवस' कार्यक्रम में दस फीसदी लाभार्थियों की भागीदारी बढ़ाने के निर्देश दिए गए हैं । इस मौके पर दंपति को परिवार नियोजन के लाभ और तरीकों की जानकारी दी जाएगी। बता दें कि पहली बार “खुशहाल परिवार दिवस” का आयोजन 21 नवंबर को किया गया था। हर माह इस दिवस का आयोजन किया जाना है। इस संबंध में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन-उत्तर प्रदेश की मिशन निदेशक अपर्णा उपाध्याय की ओर से सूबे के सभी जिलाधिकारी और मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को पत्र भेजकर पिछले माह के सापेक्ष लाभार्थियों की भागीदारी दस फीसदी बढ़ाने के निर्देश दिए गए हैं। इसके साथ ही “खुशहाल परिवार दिवस” का आयोजन भी पिछले माह के मुताबिक दस फीसदी अधिक स्वास्थ्य इकाइयों पर किया जाएगा। इतना ही नहीं हौसला साझीदारी में शामिल निजी चिकित्सालयों पर भी “खुशहाल परिवार दिवस” का आयोजन किया जाएगा। मिशन निदेशक की ओर से जिला कमुनिटी प्रोसेस प्रबंधक (डीसीपीएम) को निर्देश दिए गए हैं कि कम्युनिटी प्रोसेस अनुभाग की ओर से तैयार की गई वीडियो के जरिए शनिवार को आयोजित होने वाले वीएचएनडी (ग्राम स्वास्थ्य एवं पोषण दिवस) के मौके पर आशा कार्यकर्ता दंपति को परिवार नियोजन के लाभ और तरीकों के बारे में जानकारी देकर “खुशहाल परिवार दिवस” में आने के लिए प्रोत्साहित करेंगी। परिवार नियोजन कार्यक्रम की नोडल अधिकारी डॉ. रचना गुप्ता ने बताया कि 21 दिसम्बर दिन सोमवार को होने वाले खुशहाल परिवार दिवस में दंपति भागीदारी बढ़ाने के लिए विभाग की ओर से तैयारियां की जा रही है। परिवार नियोजन के लॉजिस्टिक मैनेजर डॉ. बालेन शर्मा ने बताया कि इस मौके पर एक जनवरी 2020 या इसके बाद जिन उच्च जोखिम वाली गर्भवती महिलाओं का प्रसव हुआ है, जिन नवविवाहितों का विवाह एक जनवरी 2020 के बाद हुआ है और जिन दंपत्ति को तीन या तीन से अधिक बच्चे हैं उनको लक्षित किया जाएगा| उन्हें बास्केट ऑफ च्वॉइस की सहायता से परिवार नियोजन के टूल अपनाने के लिए प्रेरित किया जाएगा। “खुशहाल परिवार दिवस” में शामिल होने के लिए तीन समूहों को प्रोत्साहित किया जाना है। पहले समूह में हाई रिस्क प्रेगनेंसी (एचआरपी) वाली महिलाएं होंगी। इस समूह में ऐसी महिलाएं होंगी जिनका प्रसव एक जनवरी, 2020 के बाद हुआ है। दूसरे लक्षित समूह में एक जनवरी, 2020 के बाद विवाहित दंपत्ति और तीसरे समूह में ऐसे योग्य दंपत्ति को शामिल किया गया है जिनके तीन या तीन से अधिक बच्चे हैं। सीएमओ ने बताया कि "खुशहाल परिवार दिवस" के आयोजन का प्रमुख उद्देश्य समुदाय में परिवार नियोजन की जागरूकता तथा स्वीकार्यता बढ़ाना है। हिन्दुस्थान समाचार/संजीव/मोहित-hindusthansamachar.in