180 दिवसीय 'मिशन शक्ति अभियान' में सफलता का परचम फहराने वाली 100 महिलायें होंगी चयनित
180 दिवसीय 'मिशन शक्ति अभियान' में सफलता का परचम फहराने वाली 100 महिलायें होंगी चयनित
उत्तर-प्रदेश

180 दिवसीय 'मिशन शक्ति अभियान' में सफलता का परचम फहराने वाली 100 महिलायें होंगी चयनित

news

-डीएम ने अधिकारियों की बैठक में नवरात्रि में पूजा पंडालों में लघु फिल्मों से जागरूक करने को दिये निर्देश -हमीरपुर में सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग की विशेष सचिव आईएएस प्रियंका निरंजन नोडल अधिकारी नामित हमीरपुर, 16 अक्टूबर (हि.स.)। मिशन शक्ति के विशेष अभियान को लेकर शुक्रवार को जिलाधिकारी ज्ञानेश्वर त्रिपाठी ने कहा कि 180 दिनों तक चलने वाले इस अभियान में विभिन्न क्षेत्रों में सफलता का परचम फहराने वाली 100 रोल माडल (महिलाओं) का चयन किया जायेगा। उन्होंने कहा कि मिशन शक्ति के तहत नवरात्रि के दौरान बने पूजा पंडालों में लघु फिल्मों के माध्यम से पब्लिक ऐड्रेस सिस्टम, लाउडस्पीकर से तथा गांव-गांव नुक्कड़ नाटक जरिये सामाजिक कुरीतियों की रोकथाम के लिये लोगों को जागरूक किया जायेगा। जिलाधिकारी महिलाओं व बालिकाओं की सुरक्षा, सम्मान एवं स्वावलंबन के लिये कल शनिवार से चलने वाले विशेष अभियान मिशन शक्ति के प्रभावी क्रियान्वयन को लेकर यहां कलेक्ट्रेट मीटिंग हाल में बैठक कर रहे थे। उन्होंने बताया कि मिशन शक्ति के विशेष अभियान का शुभारंभ 17 अक्टूबर से किया जाएगा। इस हेतु सभी संबंधित विभाग अपनी विस्तृत कार्य योजना अवश्य उपलब्ध करा दें। ज्ञात हो कि मिशन शक्ति अभियान शारदीय नवरात्र में 17 अक्टूबर से प्रारंभ होकर बसंती नवरात्र अप्रैल 2021 तक चलेगा। इसके अंतर्गत विभिन्न विभागों द्वारा अंतरविभागीय समन्वय द्वारा महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षा सम्मान एवं स्वावलंबन के संबंध में विशिष्ट कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। 180 दिन तक चलने वाले इस अभियान में प्रत्येक माह में 7 दिन तक विशेष अभियान संचालित होगा। यह अभियान जनपद के सभी ब्लॉकों, ग्राम पंचायतों, शहरी निकायों एवं थानों के माध्यम से संचालित होगा। इसमें महिलाओं व बालिकाओं को आत्मनिर्भर बनाने का प्रशिक्षण दिया जाएगा। सुरक्षा और सम्मान के प्रति जागरूकता प्रदान किया जाएगा। इसके अतिरिक्त लैंगिक आधारिक संवेदीकरण, ध्वनि संदेश, साक्षात्कार प्रशिक्षण, दुर्गा पंडालों के कार्यक्रम, थानों तथा ग्रामीण स्तर पर जागरूकता उत्पन्न किए जाने संबंधी विभिन्न कार्यक्रम संपादित किए जाएंगे तथा महिलाओं में स्वावलंबी बनाने की प्रक्रिया को आगे बढ़ाया जाएगा। विभिन्न विभागों द्वारा महिलाओं,बालिकाओं के उत्थान के लिए चलाई जा रही योजनाओं में लाभार्थियों के चयन व प्रशिक्षण के कार्यक्रम कराए जाएंगे। पूर्व में प्राप्त हो रहे विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों का सत्यापन कराया जाएगा। शासन की विभिन्न विभागों की योजनाओं की जानकारी प्रदान किए जाने के लिए महिलाओं व बालिकाओं के जागरूकता शिविर आयोजित कर उन्हें कार्यक्रम के लाभों के बारे में अवगत कराया जाएगा। इन सभी का विवरण एक रजिस्टर में अंकित किया जाएगा जिसका सारा विवरण कंप्यूटराइज भी कराया जाएगा। प्रत्येक थाने में महिला हेल्प डेस्क स्थापित की जाएगी। मिशन शक्ति के सफल क्रियान्वयन के लिए सभी जिलों में वरिष्ठ महिला नोडल अधिकारी नामित की गई है। जनपद हमीरपुर में इस कार्य के लिए सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग की विशेष सचिव आईएएस प्रियंका निरंजन नोडल अधिकारी नामित की गई है। कहा कि सभी थानों के अलावा सभी ब्लाकों, तहसीलों, कलेक्ट्रेट पुलिस अधीक्षक कार्यालय में भी महिला हेल्प डेस्क स्थापित की जाएगी तथा हेल्पडेस्क में प्राप्त होने वाली समस्याओं व अन्य माध्यमों यथा आईजीआरएस, सीएम हेल्पलाइन से प्राप्त होने वाली महिला उत्पीड़न संबंधित शिकायतों का प्राथमिकता से गुणवत्तापूर्ण जमीनी स्तर पर निस्तारण सुनिश्चित कराया जाए। इसमें किसी तरह की लापरवाही नहीं बरती जाए। पुलिस अधीक्षक एनके सिंह ने कहा कि मिशन शक्ति के अंतर्गत महिलाओं में सुरक्षा का भाव पैदा करने के उद्देश्य से पुलिस विभाग द्वारा विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। एंटी रोमियो स्क्वायड को और सक्रिय किया जाएगा तथा महिलाओं को आत्मरक्षा के गुण सिखाए जाएंगे। महिलाओं के प्रति दुर्भावना रखने वाले दुराचारियों का चिन्हांकन कर मिशन दुराचारी के तहत सार्वजनिक स्थल पर उनके पोस्टर चिपकाए जाएंगे। हिन्दुस्थान समाचार/पंकज-hindusthansamachar.in