बच्चों की खरीद-फरोख्त करने वाला गिरोह पकड़ा, 11 गिरफ्तार

बच्चों की खरीद-फरोख्त करने वाला गिरोह पकड़ा, 11 गिरफ्तार
11-arrested-for-kidnapping-gang

गाजियाबाद, 22 मई (हि.स.)। बच्चे चोरी कराकर उनकी खरीद-फरोख्त करने वाले गिरोह का लोनी पुलिस ने पर्दाफाश किया है। पुलिस ने गिरोह के 11 सदस्यों को गिरफ्तार किया है जिनमें मां-बेटी समेत आठ महिलाएं शामिल है। पुलिस ने गिरोह के कब्जे से 15 दिन का एक बच्चा और पांच लाख रुपए बरामद किए। गाजियाबाद के पुलिस अधीक्षक ग्रामीण डाॅ. इरज राजा ने शनिवार को बताया कि लोनी थाना क्षेत्र स्थित डाबर तालाब कॉलोनी निवासी फरियाद की पत्नी फातमा ने लोनी थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। उसने कहा कि शुक्रवार को एक महिला व पुरुष किराए का कमरा लेने के बहाने उसके घर पर आए। इसके बाद शरबत में नशीला पदार्थ पिलाकर उन्हें बेहोश करे उनके 15 दिन के बच्चे रमजानी को चुरा कर ले गए। मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस की तीन टीमों का गठन किया गया। जांच के दौरान पुलिस ने लखनऊ के आलमबाग निवासी आलोक के कब्जे से इस बच्चे को बरामद कर लिया। पुलिस अधीक्षक ग्रामीण ने बताया कि पूछताछ में आलोक ने बताया कि उसकी बहन के कोई बच्चा नहीं है। अपनी बहन को बच्चा देने के लिए उसने दिल्ली की तिलक नगर निवासी जसमीत कौर से साढ़े पांच लाख रुपए में इस बच्चे को खरीदा था। पुलिस ने आलोक से की गई पूछताछ के आधार पर विजय नगर गाजियाबाद निवासी वाहिद, डासना की उस्मान कॉलोनी निवासी रफीक की पत्नी तरमीम, उसकी बेटी रुबीना, वजीराबाद दिल्ली निवासी प्रीति, विकास नगर निवासी सरोज, द्वारका निवासी ज्योति, बुद्ध विहार दिल्ली निवासी सरोज, उस्मान गढ़ी डासना निवासी मोनी उर्फ मोनिका, तिलक नगर दिल्ली निवासी अश्मित कौर व गुरमीत को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में गुरमीत ने बताया कि इस बच्चे को वाहिद व तरमीम ने लोनी से चुराया था। इसके बाद रुबीना व मोनिका को बेच दिया था। रुबीना और मोमिना ने इसे गुरमीत को साडे पांच लाख रुपये में बेच दिया था। आरोपितों से पूछताछ के बादे गिरोह के अन्य सदस्यों की जानकारी की जा रही है। हिन्दुस्थान समाचार/फरमान

अन्य खबरें

No stories found.