‘खेलो इंडिया खेलो’ तरासेगी खिलाड़ियों की प्रतिभा
‘खेलो इंडिया खेलो’ तरासेगी खिलाड़ियों की प्रतिभा
उत्तर-प्रदेश

‘खेलो इंडिया खेलो’ तरासेगी खिलाड़ियों की प्रतिभा

news

मीरजापुर, 22 सितम्बर (हि.स.)। केंद्र सरकार की ओर से खेलो इंडिया खेलो योजना के तहत प्रतिभावान खिलाड़ियों को अपनी प्रतिभा तरासने के लिए चिंता करने की जरूरत नहीं है। सब कुछ ठीक रहा तो जिले में ही प्रशिक्षण केंद्र स्थापित हो जाएगा और बेहतरीन कोच प्रशिक्षण देने के लिए भी उपलब्ध रहेंगे। खेलो इंडिया खेलो के माध्यम से सरकार गांव की खेल प्रतिभा जो बेहतर प्रशिक्षण के अभाव में अपने मुकाम पर पहुंचने से पहले ही भटक जाते थे, अब ऐसा नहीं होगा। सरकार की मंशा है कि ऐसे किशोर, युवा खिलाड़ियों को गांव में ही प्रशिक्षण देकर उनकी ऊर्जा का सकारात्मक दिशा में उपयोग हो। और गंवई के लाल क्षेत्र, राज्य और राष्ट्रीय स्तर से होते हुए एशियन, ओलंपिक और कामन वेल्थ गेम तक पहुंचें और स्वर्ण, रजत और कांस्य पदकों पर कब्जा जमा कर अपनी कैरियर को नई ऊंचाई प्रदान करें। चुनार में बन सकता है तैराकी सेंटर जिले के चुनार तहसील क्षेत्र को तैराकी खेल के लिए विशेष ऊर्वरा मानी जाती है। तैराकी में यहां के युवाओं को वरदहस्त है। बिना कोचिंग आदि के ही इस क्षेत्र के तैराक राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाने में सफल रहे हैं। लिहाजा खेलो इंडिया खेलो योजना में चुनार में तैराकी सेंटर खोलने का प्रस्ताव है। क्षेत्रीय खेल विभाग की ओर से चुनार में प्रशिक्षण केंद्र बनाने का प्रस्ताव शासन को भेज दिया है। स्वीमिंग पुल के संचालक की ओर से अनापत्ति प्रमाण पत्र भी दे दिया गया है। कछवां में कुश्ती और भारोत्तलन केंद्र इसी प्रकार कुश्ती और भारोत्तोलन खेल का प्रशिक्षण केंद्र कछवां में स्थापित हो सकता है। भारतीय खेल प्राधिकरण के मानक के अनुसार कछवां के एसएन सिंह खेल संस्थान में उपलब्ध अखाड़े, मिट्टी और रोमन, भारोत्तोलन के अनुकूल हाल को आधार मानते हुए केंद्र स्थापित करने का प्रस्ताव खेल विभाग की ओर से शासन को भेजा गया है। क्षेत्रीय क्रीड़ा अधिकारी भानु प्रसाद ने बताया कि शासन की गाइडलाइन के आधार पर सर्वे कराकर सेंटर स्थापित करने के लिए प्रस्ताव भेज दिया गया है। मंजूरी मिलने के बाद शासन की मंशानुरूप कार्रवाई की जाएगी। हिन्दुस्थान समाचार/गिरजा शंकर/विद्या कान्त-hindusthansamachar.in