हाथरस में वन स्टॉप सेंटर की शुरुआत
हाथरस में वन स्टॉप सेंटर की शुरुआत
उत्तर-प्रदेश

हाथरस में वन स्टॉप सेंटर की शुरुआत

news

हाथरस, 22 सितम्बर (हि.स.)। किसी भी प्रकार की हिंसा से पीड़ित महिलाओं के लिए राहत और सहायता के लिए स्थापित “वन स्टॉप सेंटर” का शुभारंभ मंगलवार को जिलाधिकारी द्वारा किया गया l यह सेंटर हाथरस तहसील परिसर स्थित पुराने ट्रेजरी भवन में स्थापित हैl जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार ने कहा कि यह केंद्र घरेलू हिंसा, कार्यस्थल पर उत्पीड़न अथवा सार्वजनिक स्थान पर किसी तरह से पीड़ित महिला की सहायता में मील का पत्थर साबित होगा l उन्होंने कहा कि शारीरिक, लैंगिक, मानसिक, भावनात्मक अथवा आर्थिक उत्पीड़न से त्रस्त किसी भी आयु वर्ग की महिला को यहां पर चिकित्सकीय सहायता, विधिक परामर्श एवं सहायता, मनोचिकित्सकीय परामर्श तथा आवास एक ही छत के नीचे उपलब्ध कराया जाएगाl शीघ्र स्थापित होगा नए भवन में जिलाधिकारी ने कहा कि वर्तमान में महिलाओं के हित में इस केंद्र का संचालन कोषागार के पुराने भवन में किया जा रहा है किंतु वन स्टॉप सेंटर के लिए स्वतंत्र भवन का निर्माण शीघ्र ही पूर्ण कर लिया जाएगा और यह सेंटर उसी भवन में स्थापित हो जाएगा l उन्होंने जिला प्रोबेशन अधिकारी को निर्देश दिया किसी प्रकार की पीड़ित महिला की सूचना मिलने पर तुरंत उसका रेस्क्यू किया जाए और उसे आवश्यक विधिक सलाह और सहायता प्रदान की जाएl यह ध्यान रखा जाए कि महिलाओं को किसी प्रकार की असुविधा का सामना न करना पड़े और उन्हें त्वरित न्याय मिलने की व्यवस्था की जाएl ज्ञातव्य है कि महिला एवं बाल विकास मंत्रालय भारत सरकार द्वारा हिंसा से पीड़ित महिलाओं के लिए राहत और सहायता के लिए वन स्टॉप सेंटर संचालित किया जा रहा है । मिलेंगी यह सुविधाएं आपातकालीन स्थिति में बचाव एवं राहत इसके अंतर्गत दूरभाष या किसी अन्य माध्यम से महिला उत्पीड़न की सूचना मिलने पर उन्हें पुलिस बल के साथ तत्काल बचाव एवं राहत प्रदान की जाएगी। चिकित्सकीय सहायता किसी प्रकार की हिंसा अथवा चोट या अन्य किसी प्रकार के शारीरिक उत्पीड़न का प्राथमिक उपचार वन स्टॉप सेंटर में तैनात स्टाफ नर्स के द्वारा किया जाएगा और आवश्यकतानुसार उन्हें महिला चिकित्सालय में भर्ती भी कराया जाएगाl प्राथमिकी दर्ज कराने में मदद वन स्टॉप सेंटर में रिपोर्टिंग पुलिस चौकी की स्थापना की गई है जहां पर उत्पीड़न की शिकार किसी भी महिला को प्राथमिकी दर्ज करने में मदद की जाएगीl मनो-सामाजिक सलाह वन स्टॉप सेंटर में मनोसामाजिक काउंसलर की नियुक्ति की गई है जो विभिन्न प्रकार की हिंसा से ग्रस्त महिलाओं को अवसाद से उबारने में उनकी काउंसलिंग करेंगी और आवश्यक सहयोग भी करेंगी l कानूनी सलाह एवं सहायता वन स्टॉप सेंटर में केस वर्कर की नियुक्ति की गई है जो हिंसा से पीड़ित महिला को हर तरह से कानूनी मदद एवं सलाह देंगी और उनको त्वरित न्याय दिलाने के लिए सहायता भी करेंगी l अस्थाई आवास वन स्टॉप सेंटर में पांच महिलाओं को एक साथ रहने के लिए पूरी व्यवस्था तैयार की गई है जहां पर उन्हें निशुल्क भोजन, चिकित्सा, मनोरंजन इत्यादि की सुविधा पांच दिन तक के लिए उपलब्ध कराई जाएगी उसके बाद आवश्यकतानुसार उन्हें किसी स्थाई नारी निकेतन में स्थानांतरित किया जाएगा । उद्घाटन अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी आर-बी- भास्कर, जोइन्ट मजिस्ट्रेट प्रेम प्रकाश मीना, क्षेत्राधिकारी राम शब्द यादव, जिला प्रोबेशन अधिकारी डीके सिंह, सेंटर मैनेजर मनीषा भारद्वाज, केयर टेकर रामजी वर्मा, संरक्षण अधिकारी विमल शर्मा, महिला कल्याण अधिकारी मोनिका गौतम एवं वन स्टॉप सेंटर तथा प्रोबेशन कार्यालय के अन्य कर्मचारी उपस्थित रहे । सहायता नंबर महिला हेल्प लाइन 181 सेंटर मैनेजर 9205945850 प्रोबेशन अधिकारी 7518024067 हिन्दुस्थान समाचार/चंद्रिल/दीपक-hindusthansamachar.in