हरियाणा की शराब को लेकर यूपी-बिहार ने बनाई साझा रणनीति, आबकारी आयुक्तों की हुई बैठक
हरियाणा की शराब को लेकर यूपी-बिहार ने बनाई साझा रणनीति, आबकारी आयुक्तों की हुई बैठक
उत्तर-प्रदेश

हरियाणा की शराब को लेकर यूपी-बिहार ने बनाई साझा रणनीति, आबकारी आयुक्तों की हुई बैठक

news

कुशीनगर, 16 अक्टूबर(हि.स.)। उत्तरप्रदेश से होकर बिहार को तस्करी के जरिए जा रही हरियाणा निर्मित देशी विदेशी शराब की तस्करी को रोकने के लिए दोनों राज्य साझा रणनीति बनाकर कार्य करेंगे। बिहार में हो रहे विधानसभा चुनाव के दौरान तो अतिरिक्त सख्ती बरतने पर जोर दिया जा रहा है। शुक्रवार को कुशीनगर में उप्र के आबकारी आयुक्त पी गुरुप्रसाद की अध्यक्षता में बैठक हुई। बैठक में बिहार के आबकारी आयुक्त विनोद सिंह गुंज्याल, गोरखपुर के आयुक्त जयंत नार्लीकर आदि मौजूद रहे। साझा रणनीति के तहत दोनों राज्यों के सीमाई प्रशासन मिलकर बैरियर व अन्य छुपे रास्तों के जरिये बिहार भेजी जा रही तस्करी की शराब पर प्रभावी अंकुश लगायेंगे। यूपी का आबकारी, पुलिस व प्रशासन बिहार के समकक्ष विभागों को पूरा सहयोग करेगा। रणनीति के तहत कुशीनगर के पनियहवा, तमकुहीराज में आबकारी बैरियर बना दिए गए हैं। दो मोबाईल दस्ता गठित कर दिया गया है जो सीमावर्ती क्षेत्र में गश्त कर रहा है। सीमावर्ती इलाकों में लाइसेंसी दुकानों को बिहार चुनाव के दौरान लिमिट से कम शराब बेचने का निर्देश दिया गया है। बैठक में जिलाधिकारी कुशीनगर भूपेश एस चौधरी, एसपी विनोद कुमार सिंह, सीवान के एसपी अभिनव कुमार, गोपालगंज के एसपी मनोज कुमार तिवारी, देवरिया के डीएम अमित किशोर, एसपी श्रीपति मिश्र, महराजगंज डीएम डॉ. उज्ज्वल कुमार, एसपी प्रदीप गुप्ता आदि शामिल रहे। दोषारोपण नहीं अब होगी कार्रवाई बिहार में नीतीश सरकार ने पूर्ण शराबबंदी लागू की हुई है। बावजूद इसके पर्दे के पीछे से वहां के सभी जनपदों में शराब बिक रही है। बिहार सरकार इसके लिए यूपी सरकार को जिम्मेदार ठहराती रही है। जबकि यूपी सरकार कहती रही है कि बिहार में बिक रही शराब यूपी के फैक्ट्रियों की नही है, बल्कि हरियाणा निर्मित है। बिहार का कहना है कि शराब यूपी के रास्ते ही बिहार पहुंच रही है। अतः यूपी सरकार की जिम्मेदारी बनती है कि वह इसे रोके। इस समय बिहार में विधानसभा चुनाव हो रहे हैं। शराब के चलते कानून व्यवस्था को संभालने में शासन को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। यूपी सरकार का सहयोग अपेक्षित है। साझा रणनीति के तहत सीमावर्ती क्षेत्रों में संयुक्त अभियान चलाकर शराब की तस्करी रोकी जायेगी। हिन्दुस्थान समाचार/गोपाल/राजेश-hindusthansamachar.in