हमीरपुर में 11 बार रक्तदान करने वाले महाविद्यालय के प्राचार्य को मिला बुन्देलखंड रत्न सम्मान
हमीरपुर में 11 बार रक्तदान करने वाले महाविद्यालय के प्राचार्य को मिला बुन्देलखंड रत्न सम्मान
उत्तर-प्रदेश

हमीरपुर में 11 बार रक्तदान करने वाले महाविद्यालय के प्राचार्य को मिला बुन्देलखंड रत्न सम्मान

news

- बुन्देली महोत्सव में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद हमीरपुर ने समाजसेवी को किया सम्मानित हमीरपुर, 22 नवम्बर (हि.स.)। अनुुरागिनी संस्था के आयोजित बुन्देली महोत्सव कार्यक्रम में हमीरपुर में 11 बार जरूरतमंदों को रक्तदान करने वाले महाविद्यालय के प्राचार्य को भाजपा प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद हमीरपुर ने बुन्देलखंड रत्न से सम्मानित किया है। सम्मान पाने के बाद प्राचार्य ने रविवार को शाम कहा कि ये सम्मान पूरे बुन्देलखंड का सम्मान है। संस्कृति मंत्रालय के सहयोग से अनुरागिनी संस्था के बुन्देली महोत्सव कार्यक्रम में अभिनव महाविद्यालय सरीला में कार्यरत प्राचार्य रोहित सिंह को सम्मानित किया गया है। ये शिक्षा दान के साथ ही समय- समय पर गरीब और असहायों की मदद भी करते है। खून की कमी से जूझ रहे जरूरतमंदों के लिये इन्होंने 11 बार रक्तदान किया है। बुन्देली लोक साहित्य के प्रति सजग रहने पर लखनऊ में आयोजित अनुरागिनी संस्था के कार्यक्रम में रोहित सिंह रजावत को भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह व हमीरपुर-महोबा के सांसद पुष्पेन्द्र सिंह चंदेल तथा संस्था के अध्यक्ष डा.प्रवीण सिंह जादौन ने बुन्देलखंड रत्न से सम्मानित किया है। भाजपा अध्यक्ष ने इनके सामाजिक कार्यों की प्रशंसा की है। बुन्देलखंड रत्न से सम्मानित प्राचार्य ने कहा कि ये सम्मान उनका नहीं है बल्कि पूरे बुन्देलखंड के लोगों का सम्मान है। आगे और भी बेहतर सार्थक कार्य करने का प्रयास किया जायेगा। उन्होंने कहा कि गरीब मरीजों की जान बचाने के लिये हर एक को आगे आना चाहिये। खून की कमी पूरी करने से यदि किसी के घर में खुशहाली आती है तो इसके लिये सभी को रक्तदान करना चाहिये। रक्तदान से बड़ा कोई और कोई पुण्य कार्य नहीं होता है। हिन्दुस्थान समाचार/पंकज-hindusthansamachar.in