सौर ऊर्जा से जगमग होंगे यूपी पर्यटन के 40 होटल
सौर ऊर्जा से जगमग होंगे यूपी पर्यटन के 40 होटल
उत्तर-प्रदेश

सौर ऊर्जा से जगमग होंगे यूपी पर्यटन के 40 होटल

news

-नेडा ने सर्वेक्षण कार्य पूरा किया कुशीनगर, 02 अगस्त (हि.स.)। उत्तर प्रदेश राज्य पर्यटन विकास निगम के सभी 40 होटल अब सौर ऊर्जा से जगमग होंगे। कुशीनगर के पथिक निवास समेत सभी होटलों पर सोलर प्लांट लगाने का जिम्मा नेडा को मिला है। नेडा के अभियंताओं ने सर्वे शुरू कर दिया है। सर्वे कर अनुमानित बजट आदि की रिपोर्ट भेजी जायेगी। बजट मिलते ही सोलर प्लांट लगाने की प्रक्रिया शुरू होगी। कार्यदाई संस्था न्यू एंड रिन्यूएबल इनर्जी डेवलपमेंट एजेंसी (नेडा) के को सरकार ने सर्वेक्षण कर बजट प्रस्तुत करने का निर्देश दिया है। सर्वे का कार्य लगभग एक माह में पूर्ण हो जाएगा। अलग-अलग होटलों में भिन्न क्षमता के सोलर प्लांट लगाए जाएंगे। पर्यावरण को प्रदूषण मुक्त करने व बिजली की खपत कम कर वैकल्पिक ऊर्जा के उपयोग को बढ़ावा देने के मद्देनजर सरकार के निर्देश पर पर्यटन विभाग ने यह कदम उठाया है। विभाग का जोर होटलों में सौर ऊर्जा प्लांट लगाकर विद्युत खर्च कम करने पर भी है। इससे निगम की आय में वृद्धि होगी और राजस्व भी बढ़ेगा। बिजली का कम उपयोग होने से होटल का वातावरण प्रदूषण मुक्त हो जाएगा। यह अतिथियों को सकून भी प्रदान करेगा। आकर्षित होंगे विदेशी सैलानी सौर ऊर्जा प्लांट लगने से विदेशी सैलानियों का झुकाव निगम के होटलों की तरफ बढ़ेगा। दरअसल विदेशी सैलानी इको फ्रेंडली माहौल को बेहद पसंद करते है। विशेषकर बौद्ध सर्किट में आने वाले सैलानियों को ध्यान, योग, साधना के लिए बेहद शांतिपूर्ण माहौल चाहिए होता है। सौर ऊर्जा प्लांट के माध्यम से होटलों को जनरेटर के शोर व धुंआ से मुक्ति मिलेगी और माहौल इको फेंडली होगा। जिससे विदेशी सैलानी आकर्षित होंगे। अकेले बौद्ध सर्किट में ही पर्यटन सीजन में लाखों की संख्या में चीन, जापान, कोरिया, थाईलैंड, वियतनाम, मलेशिया, म्यांमार व श्रीलंका, भूटान से सैलानी आते है। परंतु पर्यटन निगम के होटलों में इनकी भागीदारी बेहद कम हैं। बेहद महत्वाकांक्षी योजना पर्यटन निगम के वर्क्स मैनेजर बीएस मेहता ने बताया कि यह सरकार बेहद महत्वाकांक्षी योजना है और फायदे वाली भी। पर्यटन विकास निगम के प्रदेश कुशीनगर पथिक निवास सहित सभी 40 होटलों में सोलर प्लांट लगेगा। इसके लिए नेडा ने सर्वेक्षण कार्य प्रारंभ कर दिया है। यह कार्य लगभग एक माह में पूर्ण हो जाएगा। शासन से स्वीकृति मिलने के बाद सोलर प्लांट लगाने का कार्य नेडा को ही करना है। हिन्दुस्थान समाचार/गोपाल/राजेश-hindusthansamachar.in