सोरों तीर्थ आंदोलन में दिव्यांगजनों ने दिया खुलकर समर्थन, सीएम को भेजें पोस्टकार्ड
सोरों तीर्थ आंदोलन में दिव्यांगजनों ने दिया खुलकर समर्थन, सीएम को भेजें पोस्टकार्ड
उत्तर-प्रदेश

सोरों तीर्थ आंदोलन में दिव्यांगजनों ने दिया खुलकर समर्थन, सीएम को भेजें पोस्टकार्ड

news

संस्थाओं के समर्थन से वृहद होता चला जा रहा है आंदोलन कासगंज 20 सितंबर (हि.स.)। शूकर क्षेत्र सोरों को तीर्थ स्थल घोषित कराने के लिए आंदोलन का बिगुल 15 अगस्त को बजाया गया। उसका दायरा लगातार बढ़ता जा रहा है। तमाम सामाजिक, राजनीतिक और धार्मिक संगठनों आंदोलन में सहयोग के लिए अपना समर्थन दे चुके हैं। रविवार को इसी क्रम में श्री वराह जनसेवा दिव्यांग समिति ने भी आंदोलन के समर्थन करते हुए मुख्यमंत्री को पोस्टकार्ड लिखकर भेजे हैं। आंदोलन का समर्थन करते हुए श्री बराह दिव्यांग समिति के अध्यक्ष कुलदीप निर्भय ने बताया कि जनमानस की भावनाओं को सर्वोपरि रखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार को प्राचीन एवं पवित्र स्थान सोरों को तीर्थ स्थल शीघ्र घोषित करना चाहिए। उन्होंने कहा है कि यहां के पौराणिक एवं ऐतिहासिक प्रमाणों के चलते मुख्यमंत्री को संज्ञान लेना चाहिए और चोरों को तीर्थ स्थल घोषित करना चाहिए। आंदोलन संयोजक भूपेश शर्मा ने बताया कि भगवान बराह की मोक्ष स्थली शूकर क्षेत्र सोरों को तीर्थ स्थल घोषित कराए जाने के लिए आंदोलन लगातार जारी रहेगा। प्रदेश सरकार जब तक इस मांग को पूरा नहीं कर देगी आंदोलन बृहद रूप धारण करेगा। उन्होंने बताया श्री वराह जन सेवा दिव्यांग समिति के सभी पदाधिकारियों ने एकमत होकर सोरों को तीर्थ स्थल घोषित करने को अपना समर्थन दिया इसमें प्रमुख रूप से कुलदीप निर्भय, गोपाल स्वामी, योगेश, महेश, राजपाल, सीमा देवी, सीताराम तिवारी, सुखराम, सचिन दुबे सहित अन्य लोग उपस्थित रहे। हिन्दुस्थान समाचार/ पुष्पेंद्र/मोहित-hindusthansamachar.in