सेरेब्रल पालसी बच्चों का ईलाज अब होगा ऑनलाइन
सेरेब्रल पालसी बच्चों का ईलाज अब होगा ऑनलाइन
उत्तर-प्रदेश

सेरेब्रल पालसी बच्चों का ईलाज अब होगा ऑनलाइन

news

प्रयागराज, 24 जुलाई (हि.स.)। सेरेब्रल पालसी से प्रभावित बच्चां के इलाज हेतु प्रमुख केंद्र बन चुके प्रयागराज के त्रिशला फाउंडेशन में देश-विदेश से आने वाले बच्चों और उनके अभिभावकों को कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए अपने सभी केन्द्रों को अनिश्चित काल के लिए बन्द कर ऑनलाइन थेरेपी, प्रशिक्षिण और वीडियो वार्तालाप के जरिये सेरेब्रल पालसी से प्रभावित बच्चां के इलाज करने की नई पहल शुरू की है। सेरेब्रल पालसी विशेषज्ञ डॉ. जितेन्द्र जैन का मानना है कि सेरेब्रल पालसी से प्रभावित बच्चों का इम्युनिटी सिस्टम काफी कमजोर होता है, जिसके चलते उनमें संक्रमण फैलने की संभावना अधिक रहती है। ऐसे में इन बच्चों को निरन्तर एवं लम्बे समय तक थेरेपी की आवश्यकता को देखते हुये ऑनलाइन थेरेपी एवं प्रशिक्षण और परामर्श के जरिये उनके घर पर ही इलाज करने में जहां सहायता मिल रही है, वहीं अभिभावक घर में सुरक्षित भी महसूस कर रहे हैं। सेरेब्रल पालसी के इलाज के लिए विश्व विख्यात त्रिशला फाउंडेशन द्वारा इन दिनों एक-एक घण्टे के कई ऑनलाइन प्रशिक्षण सत्रों के जरिये कुछ दिनों में ही दर्जनों बच्चो को न सिर्फ ऑनलाइन थेरेपी करायी जा रही है, बल्कि उन्हें बगैर केंद्र पर आए ही उन सभी क्रिया-कलापों सेरूबरू कराया जा रहा है, जिसके जरिये बच्चे अपने अभिभावकों की मदद से चलने-फिरने और अन्य शारीरिक गतिविधियों को आम दिनचर्या में शामिल करके शारीरिक कमजोरी को एक नई शक्ति प्रदान कर रहे हैं। डॉ. जैन का कहना है कि इससे जहां बच्चों को बहुत ज्यादा फायदा मिला है वही अभिभावक भी घर बैठे स्वयं को बेहतर तरीके से प्रशिक्षित कर पा रहे हैं। उन्होंने बताया कि ऑनलाइन प्रशिक्षण के लिए देश के कोने-कोने से लोग ऑनलाइन जुड़ रहे हैं। अब तक दो हफ्ते में 46 बच्चे इस अभियान से जुड़कर लाभ ले रहें है। विदेशों से भी लोग ऑनलाइन परामर्श और प्रशिक्षण के लिए अपना समय आरक्षित करवा रहे हैं। हिन्दुस्थान समाचार/विद्या कान्त/राजेश-hindusthansamachar.in