सहयोग न करने वाले लैब टेक्नीशियन होंगे डिवायर

सहयोग न करने वाले लैब टेक्नीशियन होंगे डिवायर
सहयोग न करने वाले लैब टेक्नीशियन होंगे डिवायर

- इच्छुक लैब टेक्नीशियन को अनुमोदित कर तत्काल सेवा में लेने के निर्देश - 48 घंटे में सशुल्क कोविड-19 का टेस्ट लाल पैथलैब पर झांसी, 25 जुलाई (हि.स.)। जिलाधिकारी आन्द्रा वामसी ने विकास भवन में कोविड-19 के संबंध में अधिकारियों के साथ एक बैठक ली। उन्होंने कहा कि अब फोकस एग्रेसिव टेस्टिंग पर होगा। इसके लिए सैंपल लेने में तेजी लानी होगी। उन्होंने बताया कि जनपद में रिकवरी रेट में बढ़ोतरी हो रही है। यह शुभ संकेत है। उन्होंने आदेश दिया कि ऐसे लैब टेक्नीशियन जो कार्य में सहयोग नहीं कर रहे हैं उन्हें उनकी सेवाओं से मुक्त करने की कार्रवाई की जायेगी। साथ ही जो इच्छुक लैब टेक्नीशियन कोविड-19 के लिए आगे आना चाहते हैं उनका नियमानुसार अनुमोदन कर उन्हें तत्काल सेवा में लिया जाएगा। जनपद में लैब टेक्नीशियन की कमी है। इस समस्या से निबटने के लिए जिलाधिकारी ने कहा कि इच्छुक लैब टेक्नीशियन कोविड-19 टेस्टिंग कार्य हेतु करने के लिए आगे आएं। उन्हें जिला स्वास्थ्य समिति से अनुमोदित करते हुए सेवा में लिया जाएगा। उन्होंने यह भी बताया कि यदि कोविड-19 में कोई नुकसान होता है तो उसका शासन के नियमानुसार लाभ दिया जाएगा। बैठक में कांटैक्ट ट्रेसिगं को बढाये जाने के लिए तत्काल 15 डाटा ऑपरेटर सहित एक सेपरेट कंप्यूटर लैब स्थापित किए जाने के निर्देश जिलाधिकारी ने दिए। उन्होंने कहा कि 6700 डाटा एंट्री हो गई है। लगभग इतना ही बैकलाग है और नए डाटा की भी फीडिंग की जानी है। इस कार्य को शिफ्ट लगाकर किया जाए ताकि समय से कांटेक्ट ट्रेसिगं की डाटा एंट्री हो सके। इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी शैलेश कुमार, सीएमओ डॉक्टर गजेंद्र कुमार निगम, नगर आयुक्त अवनीश राय, एसपी सिटी राहुल श्रीवास्तव, एसपी ग्रामीण राहुल मिठास, एसडीएम संजीव कुमार मौर्य, निर्देशक पैरामेडिकल कॉलेज डॉ एस एन सेंगर, डा अंशुल जैन सहित अन्य अधिकारी व चिकित्सक उपस्थित रहे। पेंडेंसी समाप्त,अब प्रतिदिन होगी 1200 सैंपल की टेस्टिंग कोविड-19 की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने बताया कि सैम्पल की पेंडेंसी समाप्त हो गई है। अब लगभग प्रतिदिन 1200 सैंपल लिए जाएंगे जिनकी टेस्टिंग की जाएगी। उन्होंने निर्देश दिए कि ग्रामीण क्षेत्र में 600 एन्टीजन टेस्टिंग प्रतिदिन की जानी है। इसके साथ ही आरटीपीसीआर के लिए 600 सैंपल शहरी क्षेत्र के कंटेनमेंट जोन से एकत्र किए जाने हैं। उन्होंने बताया कि नगर निगम की 193 टीम द्वारा सर्विलांस में 1206 लोगों को चिन्हित किया गया है। इन सभी का जल्द सैंपल लिए जाने की कार्रवाई की जाए। 48 घंटे में सशुल्क कोविड-19 का टेस्ट लाल पैथलैब पर उन्होंने कहा कि जनपद में यदि कोई इच्छुक व्यक्ति 48 घंटे में( भुगतान करते हुए) सशुल्क कोविड-19 की जांच कराना चाहता है तो वह निजी पैथलैब लाल पैथलैब मेडिकल कॉलेज के सामने जाकर करा सकता है। हिन्दुस्थान समाचार/महेश/मोहित-hindusthansamachar.in

अन्य खबरें

No stories found.