सरकार पर आरोप लगा कांग्रेसियों ने भ्रष्ट कानून व्यवस्था का किया श्राद्ध व तर्पण
सरकार पर आरोप लगा कांग्रेसियों ने भ्रष्ट कानून व्यवस्था का किया श्राद्ध व तर्पण
उत्तर-प्रदेश

सरकार पर आरोप लगा कांग्रेसियों ने भ्रष्ट कानून व्यवस्था का किया श्राद्ध व तर्पण

news

सरकार पर आरोप लगा कांग्रेसियों ने भ्रष्ट कानून व्यवस्था का किया श्राद्ध व तर्पण कानपुर, 24 जुलाई (हि.स.)। लॉकडाउन के दौरान जहां प्रवासी मजदूरों को लेकर कांग्रेस सरकार को घेर रही थी वहीं अब कानून व्यवस्था को लेकर मुखर हो गयी है। इसी के चलते शुक्रवार को कांग्रेसियों ने सरकार पर आरोप लगाया कि प्रदेश में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं है और अपराधियों के हौसले बुलंद है। इसके साथ ही ध्वस्त कानून व्यवस्था और सरकार को सद्बुद्धि के लिए कांग्रेसियों ने परमट मंदिर के घाट पर श्राद्ध व तर्पण का कार्यक्रम कर विरोध जताया। कानपुर महानगर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष हर प्रकाश अग्निहोत्री के नेतृत्व में आज कांग्रेस जनों ने परमट मन्दिर स्थित श्याम घाट पर प्रदेश व शहर की ध्वस्त पड़ी कानून व्यवस्था का श्राद्ध व तर्पण कर मुख्यमंत्री और सरकार की सद्बुद्धि के लिये गंगा किनारे खड़े हो कर प्रार्थना की। भारी पुलिस बल की मौजूदगी में पूरे विधि-विधान से हुये इस श्राद्ध और तर्पण कार्यक्रम को पंडित गोपाल त्रिवेदी व पंडित बृजेश त्रिपाठी ने मंत्रोच्चार के साथ सम्पन्न कराया। इस अवसर पर अध्यक्ष हर प्रकाश अग्निहोत्री ने कहा कि आज कानपुर शहर और सम्पूर्ण प्रदेश भाजपा सरकार के निकम्मेपन के कारण जंगल राज का पाप झेल रहा है। उन्होंने कहा कि फिरौती के लिए पहले संजीत यादव का अपहरण और फिर हत्या, पत्रकार विक्रम जोशी की हत्या, फिरौती के लिए ही भाजपा नेता द्वारा निर्दोष की हत्या व बिकरू में पुलिसकर्मियों की हत्या से लगता है प्रदेश में हत्याओं की बाढ़ सी आ गई है। शहर सहित पूरे प्रदेश में लूट, अपहरण, डकैती, राहजनी, हत्या, बलात्कार, महिला व दलितों के साथ बड़े पैमाने पर हो रही दरिंदगी के बढ़ते अपराधों के लिए कोई जिम्मेदार है तो वह भाजपा के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उनकी सरकार। अग्निहोत्री ने कहा कि योगी का राज जंगलराज में तब्दील हो चुका है। कानून व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त है और अपराधियों के हौसले बुलन्द हैं। मुख्यमंत्री के नाकारापन के कारण ही आज प्रदेश में लोगों का जीवन सुरक्षित नहीं है। उन्होंने कहा उक्त घटनाओं की जांच हाइकोर्ट के किसी जज से कराने, संजीत यादव सहित हत्याओं का शिकार बने उक्त निर्दोष लोगों के परिवार को एक-एक करोड़ की आर्थिक सहायता देने और तत्काल कानून व्यवस्था दुरुस्त करने की मांग की है। वहीं पूर्व सांसद राकेश सचान ने कहा कि प्रदेश में बढ़ते अपराधों पर तत्काल रोक न लगी तो भाजपा सरकार की बर्खास्तगी के लिए सड़कों पर संघर्ष का आह्वान किया जायेगा। हिन्दुस्थान समाचार/अजय/राजेश-hindusthansamachar.in