समीक्षा बैठक में निकायों के दो अधिशाषी अधिकारियों पर कार्यवाही, डीएम ने मांगा स्पष्टीकरण
समीक्षा बैठक में निकायों के दो अधिशाषी अधिकारियों पर कार्यवाही, डीएम ने मांगा स्पष्टीकरण
उत्तर-प्रदेश

समीक्षा बैठक में निकायों के दो अधिशाषी अधिकारियों पर कार्यवाही, डीएम ने मांगा स्पष्टीकरण

news

हमीरपुर, 22 सितम्बर (हि.स.)। नगरीय निकायों में स्वच्छता एवं अपशिष्ट प्रबंधन की बैठक से नदारत रहने पर जिलाधिकारी ने दो अधिशाषी अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही करते हुये स्पष्टीकरण मांगने के निर्देश दिये है। हमीरपुर स्थित कलेक्ट्रेट मीटिंग हाल में मंगलवार को आयोजित समीक्षा बैठक में नगर पालिका परिषद मौदहा व नगर पंचायत सरीला के अधिशाषी अधिकारी के नदारत रहने पर जिलाधिकारी ज्ञानेश्वर त्रिपाठी ने कड़ी नाराजगी जतायी है। उन्होंने दोनों अधिशाषी अधिकारियों के खिलाफ स्पष्टीकरण जारी कर कार्यवाही करने के निर्देश दिये है। उन्होंने कहा कि सभी नगरीय निकायों में ठोस अपशिष्ट प्रबंधन हेतु भूमि का चयन प्राथमिकता से किया जाए। यदि भूमि की उपलब्धता नहीं हो पा रही है तो इसको नियमानुसार क्रय करने की कार्यवाही प्रारंभ की जाए। इस हेतु संबंधित जमीन का नियमानुसार मूल्यांकन भी करा लिया जाए। जिलाधिकारी ने कहा कि मैटेरियल रिकवरी फैसिलिटी के अंतर्गत सूखे तथा गीले कचरे/अपशिष्ट के लिए अलग-अलग तथा प्लास्टिक आदि के लिए अलग-अलग डंपिंग ग्राउंड के लिए भी भूमि का निर्धारित पैमाने के अनुसार चिन्हांकन कर लिया जाए। जिलाधिकारी ने कहा कि अपशिष्ट प्रबंधन के अंतर्गत सभी नगरीय निकायों में उपलब्ध कराई गई धनराशि के सापेक्ष जो कार्य किए गए हैं। उसका विवरण उपलब्ध कराया जाए। इस हेतु किस मद में कितनी धनराशि अवमुक्त हुई तथा उसके सापेक्ष क्या-क्या कार्रवाई की गई है। इसकी भी रिपोर्ट उपलब्ध कराई जाए। उन्होंने कहा कि अपशिष्ट प्रबंधन हेतु सभी प्रकार की सामग्री का क्रय वित्तीय नियमों के अनुसार किया जाए। बैठक में अपर जिलाधिकारी विनय प्रकाश श्रीवास्तव , डिप्टी कलेक्टर राजेश चौरसिया एवं संजीव शाक्य, नगरीय निकायों के अधिशासी अधिकारी मौजूद रहे। हिन्दुस्थान समाचार/पंकज/मोहित-hindusthansamachar.in