सड़क सुरक्षा के प्रति विद्यार्थियों को सजग बनाने के लिए तैयार हो रही शिक्षकों की टीम
सड़क सुरक्षा के प्रति विद्यार्थियों को सजग बनाने के लिए तैयार हो रही शिक्षकों की टीम
उत्तर-प्रदेश

सड़क सुरक्षा के प्रति विद्यार्थियों को सजग बनाने के लिए तैयार हो रही शिक्षकों की टीम

news

लखनऊ,17 सितम्बर (हि.स.)। परिवहन विभाग उत्तर प्रदेश में बढ़ते सड़क हादसों में कमी लाने के लिए बेसिक स्कूलों के शिक्षकों को ऑनलाइन यातायात नियमों का प्रशिक्षण दे रहा है। बेसिक शिक्षकों के बाद माध्यमिक स्कूलों के शिक्षकों को ऑनलाइन प्रशिक्षण दिया जाएगा। ताकि विद्यार्थियों को शुरुआती दौर में ही यातायात नियमों के प्रति सजग बनाया जा सके। उत्तर प्रदेश में करोना संक्रमण के चलते सड़क सुरक्षा से जुड़े कार्यक्रम गति नहीं पकड़ रहे थे। इसलिए परिवहन विभाग ने शिक्षा विभाग के सहयोग से सड़क सुरक्षा से जुड़े वर्चुअल प्रशिक्षण कार्यक्रम को आगे बढ़ाना शुरू कर दिया है। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम के माध्यम से प्रथम चरण में बेसिक स्कूलों के शिक्षकों को और दूसरे चरण में माध्यमिक स्कूलों के शिक्षकों को सड़क सुरक्षा से जुड़े नियमों का प्रशिक्षण दिया जाएगा। ताकि स्कूलों के विद्यार्थियों को शुरुआती दौर से ही यातायात नियमों का पाठ पढ़ाया जा सके। इस महीने के अंत तक बेसिक शिक्षकों का ऑनलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम पूरा हो जाएगा। इसके बाद नवम्बर महीने तक माध्यमिक शिक्षकों का भी ऑनलाइन प्रशिक्षण पूरा कर लिया जाएगा। फिलहाल अभी प्रदेश के सभी जिलों के सौ-सौ बेसिक शिक्षकों को सड़क सुरक्षा से जुड़े नियमों में प्रशिक्षित किया जा रहा है। ये शिक्षक अपने-अपने स्कूलों में विद्यार्थियों को सड़क सुरक्षा के नियमों को एक पाठ के रूप में रोजाना पढ़ाएंगे। उप-परिवहन आयुक्त (सड़क सुरक्षा) पुष्पसेन सत्यार्थी ने गुरुवार को बताया कि बेसिक शिक्षकों का यातायात नियमों से जुड़ा ऑनलाइन प्रशिक्षण का कार्यक्रम अंतिम दौर में पहुंच गया है। अगले माह तक वर्चुअल प्रशिक्षण से शिक्षकों को पूरी तरह से प्रशिक्षित कर दिया जाएगा । इसके बाद स्कूल खुलने पर शिक्षक अपने -अपने स्कूलों में विद्यार्थियों को यातायात नियमों का पाठ प्रतिदिन पढ़ाएंगे। इससे शुरुआती दौर से ही विद्यार्थी सड़क सुरक्षा के नियमों के प्रति सजग होने लगेंगे। हिन्दुस्थान समाचार/दीपक-hindusthansamachar.in