सचिव ने पीएम आवास के पात्रों को अपात्र किया
सचिव ने पीएम आवास के पात्रों को अपात्र किया
उत्तर-प्रदेश

सचिव ने पीएम आवास के पात्रों को अपात्र किया

news

- बिचैली के ग्रामीणों ने पुनः सत्यापन की मांग उठाई जालौन, 17 सितम्बर (हि.स.)। कुठौंद विकास खण्ड क्षेत्र की ग्राम पंचायत बिचैली के दर्जनों ग्रामीणों ने आज कलेक्ट्रेट पहुंच कर ग्राम पंचायत अधिकारी द्वारा ग्राम के रोजगार सेवक के पति के साथ मिलकर प्रधानमंत्री आवास का फर्जी तरीकें सत्यापन किये जाने का आरोप लगाते हुए प्रशासन को ज्ञापन भेंट कर जांच करवाये जाने की मांग की है। प्रशासन को सौपे शिकायती पत्र में ग्रामीणों ने बताया कि ग्राम प्रधान अनीता देवी ने वर्ष 2018-19 में प्रधानमंत्री आवास हेतु विकास खण्ड के अधिकारियों के साथ ग्राम के पात्र लाभार्थियों का सर्वे करवाया था जिसमें पात्र ब्यक्तियों की संख्या 103 थी जिसकी सूची बनाई गयी थी उक्त सूची से 8 ब्यक्तियों की जियो टैकिंग नहीं की गयी थी उन्हें सूची से अलग रखा गया वह भी पात्र सूची में आते है उक्त सूची का कई बार सत्यापन किया गया। सभी पात्र ब्यक्तियों को उम्मीद थी कि हम लोगों के कच्चे मकान एवं झोपड़ पटटी में रहने के बजाय शासन द्वारा मुख्यमंत्री एव प्रधानमंत्री आवास मिलेंगे, लेकिन ग्राम पंचायत अधिकारी विनय स्वर्णकार ने पैसे की मांग रख दी तो हम लोगों ने पैसा देने से मना कर दिया, पात्रों को अपात्र कर दिया। ग्रामीणों ने जिलाधिकारी से मांग की है कि मामले की उच्च स्तरीय जांच करवा कर दोबारा सत्यापन करवाया जाये जिससे पात्र लोगों को प्रधानमंत्री आवास मिल सकें तथा दोषी ग्राम पंचायत अधिकारी पर कानूनी कार्यवाही हो सके। इस दौरान प्रतिपाल सिंह,चरन सिंह, रविन्द्र सिंह,ब्रजेश कुमार, आशाराम, गायत्री देवी, राधेश्याम, राजीव कुमार, ज्ञान सिंह,कल्लूराम, जगदीश, देवी सिंह, अमित, तेजसिंह, भान सिंह, मोतीलाल, मान सिंह,अजय कुमार, सुरेश, रामसिंह, शिवकुमार सहित दर्जनों ग्रामीण मौजूद रहे। हिन्दुस्थान समाचार/अनिल/मोहित-hindusthansamachar.in