शौचालय में आवास बनाकर रहने के मामले की जांच शुरू
शौचालय में आवास बनाकर रहने के मामले की जांच शुरू
उत्तर-प्रदेश

शौचालय में आवास बनाकर रहने के मामले की जांच शुरू

news

-डीएम के निर्देश पर डीपीआरओ के नेतृत्व में चार सदस्यीय अधिकारियों ने शुरू की मामले की जांच हमीरपुर, 10 सितम्बर (हि.स.)। सुमेरपुर क्षेत्र के ग्राम पंचायत धुंधपुर में एक विधवा के शौचालय में आवास बनाकर रहने के मामले को लेकर यहां गुरुवार को जिलाधिकारी ने जांच के निर्देश दिये है। शौचालय को आवास बनाकर रहने का मामला प्रकाश में आने के बाद जांच के लिए गए प्रशासनिक अधिकारियों के सामने महिला की हकीकत का पर्दाफाश हो गया। पति की मौत के बाद ज्यादातर समय मायके में रहने के कारण विधवा सरकारी सहायता पाने से वंचित रही। ग्राम प्रधान ने एक पखवाड़े के अंदर एक कमरा तैयार कराने का आश्वासन अधिकारियों को दिया है। विधवा पेंशन सहित राशन कार्ड आदि योजनाओं का लाभ दिलाने के लिए आवश्यक कार्रवाई शुरू कराई गई है। ग्राम पंचायत धुन्धपुर की विधवा पार्वती निषाद के शौचालय में रहने का मामला प्रकाश में आया था। इस पर जिलाधिकारी के निर्देश पर डीपीआरओ राजेंद्र प्रकाश, डीएसओ रामजतन यादव, बीडीओ अभिमन्यु सेठ एवं एडीओ पंचायत सत्य प्रकाश गुप्ता के साथ गांव पहुंचे। और पार्वती से मिलकर हकीकत परखी। पार्वती ने बताया कि वह ज्यादातर अपने मायके बड़ागांव में रहती है। संतान न होने तथा पति के स्वर्गवासी हो जाने से मायका ही सहारा बचा था। बताया कि दो वर्ष पूर्व बारिश में मकान ढह जाने से वह बचा सामान शौचालय में रखकर मायके लौट गई थी। कभी कभार आने पर वह इसी शौचालय के बाहर चूल्हा बनाकर खाना बना लेती है और यहीं पर सो जाती है। एडीओ पंचायत ने बताया कि महिला के गांव में न रहने के कारण उसे सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिला है। जबकि देवर, जेठ सहित सभी को सरकारी सुविधाएं प्राप्त हो रही हैं। इनके आवास प्लस में भी नाम शामिल है। उन्होंने बताया कि विधवा महिला के पास किसी बैंक में खाता नहीं है। पंचायत सचिव को खाता खुलवाने के साथ विधवा पेंशन, राशन कार्ड बनवाने के निर्देश तत्काल प्रभाव से दिए गए हैं। ग्राम प्रधान प्रतिनिधि कालीदीन निषाद ने एक पखवारे में एक कमरा तैयार कराकर रहने का पुख्ता इंतजाम करने का आश्वासन दिया है। एडीओ पंचायत ने बताया कि सास मीडिया के नाम बने राशन कार्ड में विधवा का नाम दर्ज है। फिलहाल उसे पांच किग्रा खाद्यान्न मिल रहा है। अलग से राशन कार्ड की कार्रवाई की जा रही है। आवास प्लस की सूची में नाम शामिल करके आवास दिलाने की कार्रवाई शुरू की गई है। इस मौके पर पंचायत सचिव विरेंद्र पाल, रोजगार सेवक आदि लोग मौजूद रहे। हिन्दुस्थान समाचार/पंकज/दीपक-hindusthansamachar.in