शारदीय नवरात्र 17 से, इस बार घोड़े पर सवार होकर आएंगी मां दुर्गा
शारदीय नवरात्र 17 से, इस बार घोड़े पर सवार होकर आएंगी मां दुर्गा
उत्तर-प्रदेश

शारदीय नवरात्र 17 से, इस बार घोड़े पर सवार होकर आएंगी मां दुर्गा

news

-शक्ति आराधना के पर्व पर रहेगा कोरोना वायरस का साया लखनऊ, 16 अक्टूबर (हि.स.)। आदि शक्ति मां दुर्गा की आराधना का पावन पर्व शारदीय नवरात्र 17 अक्टूबर शनिवार से शुरू हो रहा है। इस बार मां दुर्गा घोड़े पर सवार होकर आएंगी। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शारदीय नवरात्र पितृपक्ष के अगले दिन ही शुरु हो जाते हैं, लेकिन इस बार अधिमास पड़ने के कारण नवरात्र का पर्व करीब एक महीना देर से शुरू हो रहा है। शुक्रवार को अधिमास का अंतिम दिन था। अब शनिवार को कलश स्थापना के साथ नवरात्र प्रारम्भ हो जाएगा। ज्योतिषाचार्य डा. ओमप्रकाशाचार्य के अनुसार शारदीय नवरात्र के प्रथम दिन कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त प्रातः छह बजकर 23 मिनट से सुबह 10 बजकर 12 मिनट तक है। पहले दिन नौदुर्गा के प्रथम स्वरुप मां शैलपुत्री की आराधना का विधान है। नवरात्र को लेकर आज दिन भर उप्र के विभिन्न नगरों में तैयारियां होती रहीं। देवी मंदिरों को फूलों और बिजली से झालरों से सजाया गया। हालांकि, इस बार के नवरात्र पर कोरोना वायरस का साया रहेगा। दुनिया भर में फैली इस महामारी के कारण उत्तर प्रदेश के देवी मंदिरों में इस बार नवरात्र के अवसर पर कुछ शर्तों के साथ प्रवेश मिलेगा। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के लोगों को शारदीय नवरात्र की शुभकामनाएं दी है। ये हैं नवरात्र की तिथियां 17 अक्टूबर - कलश स्थापना के साथ शैलपुत्री की पूजा 18 अक्टूबर - द्वितीया मां ब्रह्मचारिणी की पूजा 19 अक्टूबर - तृतीय मां चंद्रघंटा की पूजा 20 अक्टूबर - चतुर्थी मां कुष्मांडा की पूजा 21 अक्टूबर - पंचमी मां स्कंदमाता की पूजा 22 अक्टूबर - षष्ठी मां कात्यायनी की पूजा 23 अक्टूबर - सप्तमी मां कालरात्रि की पूजा 24 अक्टूबर - अष्टमी मां महागौरी की पूजा 25 अक्टूबर - नवमी मां सिद्धिदात्री की पूजा व विजयादशमी 26 अक्टूबर - दुर्गा विसर्जन हिन्दुस्थान समाचार/ पीएन द्विवेदी-hindusthansamachar.in