शारदीय नवरात्र पर विन्ध्यधाम में पहुंचे भक्त, मध्यरात्रि से नवरात्रि की औपचारिक शुरुआत
शारदीय नवरात्र पर विन्ध्यधाम में पहुंचे भक्त, मध्यरात्रि से नवरात्रि की औपचारिक शुरुआत
उत्तर-प्रदेश

शारदीय नवरात्र पर विन्ध्यधाम में पहुंचे भक्त, मध्यरात्रि से नवरात्रि की औपचारिक शुरुआत

news

-यात्रियों की सुविधा के लिए 75 बसों का संचालन करेगा रोडवेज मीरजापुर, 16 अक्टूबर (हि.स.)। मां विंध्यवासिनी के विंध्यधाम का शारदीय नवरात्र मेला की औपचारिक शुरूआत शुक्रवार मध्यरात्रि से हो जाएगी। श्रद्धालु गंगा स्नान करने के बाद शनिवार की भोर में मां के मंगला आरती के दौरान दर्शन पूजन के लिए पंक्तिबद्ध हो जाएंगे। शुक्रवार से ही श्रद्धालुओं से विंध्यधाम की गलियां पटी रही। वहीं दूर-दराज के श्रद्धालुओं का शुक्रवार की सुबह से ही विंध्यधाम आने का सिलसिला शुरु हो गया था। कोरोना संक्रमण के कारण काफी कम संख्या में श्रद्धालु मां के दरबार पहुंचे है। विंध्यधाम के होटल, अतिथिगृह एवं पुरोहितों के आवास पर काफी कम संख्या में श्रद्धालु पहुंचे। विंध्यधाम का शारदीय नवरात्र मेला शुक्रवार की मध्य रात्रि शुरू हो जाएगा। विंध्यधाम में डेरा जमाए दूर-दराज के श्रद्धालु शनिवार की भोर में गंगा स्नान करने के बाद मां के दर्शन पूजन के लिए मंदिर के दोनों प्रवेश द्वार एवं झांकी पर पंक्तिबद्ध खड़े हो जाएंगे। मंगला आरती के बाद मंदिर के गर्भगृह का कपाट खुलते ही भक्त मां का दर्शन शुरू हो जाएगा।। शुक्रवार को सुबह से ही नवरात्र मेले के मद्देनजर प्रशासन तैयारियों को अंतिम रूप देने में प्रशासन जुटा रहा। प्रशासन ने नवरात्र मेले को सुरक्षा की दृष्टी से आठ जोन और अट्ठारह सेक्टरों में बांट दिया है। प्रत्येक जोन में एक जोनल व सेक्टर में सेक्टर मजिस्ट्रेट की तैनाती की गयी है। नगर मजिस्ट्रेट जगदंबा सिंह को मेला प्रभारी व एडीएम यूपी सिंह को सुपर जोनल प्रभारी की जिम्मेदारी सौंपी गयी है। रेल प्रशासन ने कोरोना संक्रमण के कारण इस बार विंध्याचल स्टेशन पर केवल पांच ट्रेनों का स्टापेज दिया है। रोडवेज प्रशासन विभिन्न स्थानों के लिए 75 बसों का संचालन विंध्याचल रोडवेज परिसर से कर रहा है। मेला क्षेत्र में सज गई प्रसाद व चुनरी की दुकानें शारदीय नवरात्र मेला के मद्दे नजर विंध्याचल, अष्टभुजा और कालीखोह में माला-फूल, ईलाइचीदाना, नारियल और चुनरी की दुकानें लग गयी है। विंध्यधाम की गलियों में प्रसाद की दुकानों पर रंग-विरंगी चुनरी आकर्षक दिख रही है। बच्चों के लिए खिलौना व गृहस्थी के सामानों की दुकाने भी लगायी गयी है। ड्रोन कैमरे से होगी नवरात्र मेले की निगरानी नवरात्र मेले के दौरान मां विंध्यवासिनी के दर्शन पूजन के लिए आने वाले श्रद्धालुओं की सुरक्षा का बेहतर इंतजाम रहेगा। मेला क्षेत्र की निगरानी ड्रोन कैमरे से की जाएगी। इसके अलावा विभिन्न गंगा घाटों पर निगहबानी के लिए दर्जन भर स्थानों पर सीसी कैमरा लगाया गया है। मेला क्षेत्र में शांति व सुरक्षा व्यवस्था के लिए एक अपर पुलिस अधीक्षक और आठ सीओ की अतिरिक्त तैनाती की गयी है। बडे वाहनों के लिए मार्ग किया गया परिवर्तित शारदीय नवरात्र मेले के मद्दे नजर बड़े वाहनों के मार्ग को परिवर्तित कर दिया गया है। प्रयागराज से आने वाले बड़े वाहनों को गैपुरा से लालगंज के रास्ते मिर्जापुर होते हुए वाराणसी रवाना किए जाएगें। वहीं वाराणसी से चुनार होते हुए इलाहाबाद जाने वाले वाहनों को शीतला मंदिर तिराहे से लालगंज होते हुए गैपुरा के रास्ते रवाना किए जाएगें। बड़े वाहनों को रोकने के लिए गैपुरा चैराहा एवं अष्टभुजा तिराहे पर बैरियर लगाया गया है। प्रत्येक बैरियर पर एक उप निरीक्षक,चार सिपाही व इतने ही होमगार्ड की तैनाती की गयी है। हिन्दुस्थान समाचार/गिरजा शंकर/उपेन्द्र/संजय-hindusthansamachar.in