शारदीय नवरात्र : अनवरत जालौन वाली माता पर चढ़ रहे जवारें
शारदीय नवरात्र : अनवरत जालौन वाली माता पर चढ़ रहे जवारें
उत्तर-प्रदेश

शारदीय नवरात्र : अनवरत जालौन वाली माता पर चढ़ रहे जवारें

news

औरैया, 24 अक्टूबर (हि. स.)। जनपद के चंबल बैली पंचनद धाम के अति महत्वपूर्ण, एतिहासिक प्रमुख जालौन मांता मंदिर पर नवरात्र के आठवें दिन अष्टमी को ही दूर-दूर से लोग बारी "जवारे" बैंड-बाजे ढ़ोल नगाड़े बजाकर रास्ते भर नाचते गाते हुए बराबर पूरी दिन से अभी तक बराबर कतार बद्ध तरीके से अनवरत तरह तरह के करिश्माई अंदाज में आ रहे हैं लगता है जैसे लोगों ने कोरोना वायरस को मां के आगे नतमस्तक कर दिया हो। जनपद के सीमावर्ती इलाके में जालौन माता रानी के दरवार में जाकर उनके दर्शन कर आशीर्वाद लिया तथा उन्होंने दरवार में प्रार्थना की कि, कोरोनावायरस से देश को शीघ्र छुटकारा मिले। वहां देखा कि चारों दिशाओं से दूर दूर से अंतर्जनपदीय लोगों का बस, ट्रैक्टर,चार पहिया वाहन, मोटरसाइकिल, साईकिल यहां तक कि पैदल ही लोगों का आना शुरू हुआ जो अभी भी जारी है। बताते चलें कि लोग अपनी बारी यानी जबारों को भजन कीर्तन, अचरी, लांगुरिया बैंड-बाजे ढ़ोल नगाड़ों के साथ गाते बजाते तांता लगाएं चले आ रहे हैं मां के दरबार में आकर देश में फैले कोरोना वायरस की महामारी से निपटने के लिए और निजात पाने के मांता रानी से प्रार्थना कर रहे हैं। और जबारों के साथ लोग अपने मुंह के पास गाल को सांघ से एक तरह का त्रिशूल को आर पार कर जमीन पर लेटकर नाचकर चलते देखा गया तथा बहुत सी महिला श्रद्धालु जमीन पर लेट कर दंडवत प्रणाम कर चल रहीं थीं और ऐ क्रम अनवरत जारी है। और आज भी देर रात्रि तक जारी रहेगा। हिन्दुस्थान समाचार/ सुनील-hindusthansamachar.in