शहीदों के भाव तर्पण से मिलेगी देश को खुशहाली: संयुक्ता भाटिया
शहीदों के भाव तर्पण से मिलेगी देश को खुशहाली: संयुक्ता भाटिया
उत्तर-प्रदेश

शहीदों के भाव तर्पण से मिलेगी देश को खुशहाली: संयुक्ता भाटिया

news

-सर्व पितृ अमावस्या पर लखनऊ में ज्ञात-अज्ञात शहीदों का हुआ श्राद्ध-तर्पण लखनऊ, 17 सितम्बर (हि.स.)। राष्ट्रभक्ति जागृति अभियान के तहत सर्व पितृ अमावस्या के अवसर पर गुरुवार को राजधानी लखनऊ में गोमती तट स्थित शहीद स्मारक पर ज्ञात-अज्ञात शहीदों का श्राद्ध-तर्पण विधि विधान से सम्पन्न हुआ। इस अवसर पर जैविक युद्ध कोरोना में हताहत लोगों को श्रद्धार्पण कर एनसीसी कैडेट्स ने शहीदों को सलामी दी। कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित लखनऊ की महापौर संयुक्ता भाटिया ने कहा कि सनातन परम्परा में पुरखों की तृप्ति के लिए किये जाने वाले श्राद्धकर्म से परिवार फलता फूलता है। इसी प्रकार शहीदों पुरखों के भाव तर्पण से देश खुशहाल होगा। सुमंगलम सेवा साधना संस्थान के सचिव साधक राजकुमार ने कहा कि स्वाधीनता संग्राम, भारत विभाजन व राष्ट्र रक्षा में शहीद हुवे क्रांतिवीरों के श्राद्ध-तर्पण के साथ ही चाइना द्वारा प्रायोजित जैविक युद्ध कोरोना में हताहत लोगों का श्रद्धापर्ण के माध्यम से हम पूर्वजों के संस्कारों को याद कर अपने जीवन में उतारते हैं। पुरखों के साथ संबंध स्थापित और अपने सांस्कृतिक गौरव को याद कर विश्वमंगल हेतु यह श्राद्ध-तर्पण केवल भारत में ही होता है। उन्होंने कहा कि शहीद पितरों को श्रद्धांजलि अर्पित करने के पीछे का भाव है की युवा पीढ़ी में अपने पूर्वजों के प्रति कृतज्ञता के साथ माता-पिता और बड़ों का सम्मान करने की प्रवृत्ति जागृत हो। भाजपा के वरिष्ठ नेता विंध्यवासिनी कुमार ने कहा कि जीवन की प्रगति पुरखों के आशीष से फलीभूत होती है। हम सभी अपनी पूरी निष्ठा से देश के सर्वांगीण विकास के लिए अपनी प्रतिभा क्षमता समर्पित करें। क्रान्तिकारी रामकृष्ण खत्री के सुपुत्र एवं शहीद स्मृति समारोह समिति के महामंत्री उदय खत्री ने स्वतंत्रता संग्राम के हुतात्मा क्रान्तिवीरों को याद करते हुए उन्हें अपनी भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। पूर्व सैनिक सेवा परिषद की स्क्वाड्रन लीडर राखी अग्रवाल ने ‘शहीदों ने लौ जलाई जो’ गीत सुनाया तथा देशभक्ति की परम्परा का गुणगान किया। विश्व पुरोहित परिषद के अध्यक्ष आचार्य विपिन पांडेय ने श्राद्ध तर्पण के वैज्ञानिक व सांस्कृतिक पक्ष को रखते हुए आचार्य विनोद कुमार मिश्र एवं पांच अन्य श्रेष्ठ विद्वानों के साथ विधि विधान से श्राद्ध-तर्पण का अनुष्ठान कराया। कर्तव्या फाउंडेशन के अध्यक्ष सुभाष चंद्र अग्रवाल ने सभी का आभार ज्ञापन करते हुए अपने कर्तव्यों का समाज देश के प्रति निर्वहन करने की अपील किया। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से पद्मश्री वचनेश स्मृति संस्थान के सचिव शशिकान्त गोपाल, लोक संस्कृति शोध संस्थान के विशेष कार्याधिकारी होमेन्द्र मिश्र, हमराह एक्स एनसीसी कैडेट सेवा संस्थान के अजीत कुमार, अभिषेक मिश्रा, अन्तरराष्ट्रीय भोजपुरी सेवा न्यास के अध्यक्ष परमानंद पांडेय, अक्षयवट के अध्यक्ष डॉ चेत नारायण सिंह, सच्चितानंद रॉय, ज्योति किरण, चेतन शुक्ला, अजीत पांडेय, आशीष कुमार, अमर सिंह, विनोद कुमार, रवि कुमार, अभिषेक मिश्रा सहित विभिन्न सामाजिक संगठन के प्रतिनिधियों ने सरकार के कोरोना एडवाइजरी को ध्यान में रखते हुए सांकेतिक रुप से श्राद्ध अनुष्ठान पूरा किया तथा हुतात्मा क्रान्तिवीरों का पुण्यस्मरण किया। इस अवसर पर ज्ञात अज्ञात शहीदों की स्मृति में पौधारोपण भी किया गया। हिन्दुस्थान समाचार/ पीएन द्विवेदी/राजेश-hindusthansamachar.in