शराब कांड के पीड़ित परिवारों के साथ सपा कार्यकर्ताओं का कमिश्नरी पर डेरा, जमकर हंगामा
शराब कांड के पीड़ित परिवारों के साथ सपा कार्यकर्ताओं का कमिश्नरी पर डेरा, जमकर हंगामा
उत्तर-प्रदेश

शराब कांड के पीड़ित परिवारों के साथ सपा कार्यकर्ताओं का कमिश्नरी पर डेरा, जमकर हंगामा

news

मेरठ, 12 सितम्बर (हि.स.)। दो दिन पहले जानी थाना क्षेत्र में जहरीली शराब से हुई तीन ग्रामीणों की मौत को लेकर समाजवादी पार्टी पीड़ित परिवारों की पैरवी में उतर आई है। शनिवार को सपा कार्यकर्ताओं ने पीड़ित परिवारों के साथ कमिश्नरी पर धरना देते हुए जमकर हंगामा किया। समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष राजपाल सिंह और वरिष्ठ नेता अतुल प्रधान के साथ सपा कार्यकर्ताओं ने जहरीली शराब कांड के पीड़ित परिवारों के साथ कमिश्नरी पर धरना दिया। सपा नेताओं ने आरोप लगाया कि घटना को हुए 50 घंटे से अधिक का समय बीत चुका है लेकिन पुलिस ने अब तक पीड़ितों की एफआईआर तक दर्ज नहीं की है। प्रशासन अपनी गर्दन फंसती देख जहरीली शराब से मौत की बात को नकार रहा है। जबकि मृतक के परिजन चीख-चीख कर कह रहे हैं कि उनके परिवार के सदस्य जहरीली शराब का शिकार हुए हैं। सपा कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि मेरठ ही नहीं बल्कि यूपी के अन्य कई जिलों में भी प्रशासन और भाजपा नेताओं के संरक्षण में अवैध शराब का धंधा फल-फूल रहा है। सपा कार्यकर्ताओं ने अवैध शराब पर शिकंजा कसने की मांग करते हुए राज्यपाल के नाम ज्ञापन प्रशासनिक अधिकारियों को सौंपा। ज्ञापन में जानी में जहरीली शराब के कारण मारे गए तीनों मृतकों के परिवारों को 10-10 लाख का मुआवजा दिए जाने की मांग की गई। इसी के साथ क्षेत्र में जहरीली शराब बिकवाने के लिए क्षेत्रीय थानेदार सहित क्षेत्रीय आबकारी निरीक्षक और जिला आबकारी अधिकारी को जिम्मेदार बताते हुए तीनों को निलंबित किए जाने की मांग की। हिन्दुस्थान समाचार/कुलदीप/राजेश-hindusthansamachar.in