वीमेन पाॅवर लाइन-1090 ने अगस्त तक महिला उत्पीड़न की 1.02 लाख शिकायतों का किया निस्तारण
वीमेन पाॅवर लाइन-1090 ने अगस्त तक महिला उत्पीड़न की 1.02 लाख शिकायतों का किया निस्तारण
उत्तर-प्रदेश

वीमेन पाॅवर लाइन-1090 ने अगस्त तक महिला उत्पीड़न की 1.02 लाख शिकायतों का किया निस्तारण

news

-एफएफआर के जरिए 713 शिकायतों में पीड़ित महिलाओं को पहुंचायी गई राहत लखनऊ, 07 सितम्बर (हि.स.)। वीमेन पाॅवर लाइन-1090 ने इस वर्ष 01 जनवरी से 31 अगस्त तक महिलाओं के प्रति विभिन्न प्रकार के उत्पीड़न से सम्बन्धित 1,02,251 शिकायतों का निस्तारण किया है। ऐसे लोगों के विरुद्ध सख्ती से कानूनी कार्रवाई की गयी है, जो 1090 में दर्ज शिकायतों के प्रकरणों में मोबाइल व इलेक्ट्राॅनिक उपकरणों एवं सोशल मीडिया के माध्यम से पीड़िताओं का उत्पीड़न कर रहे थे। अपर पुलिस महानिदेशक व प्रभारी, वीमेन पाॅवर लाइन, 1090 नीरा रावत के मुताबिक वीमेन पाॅवर लाइन 1090 पर 01 जनवरी 2020 से 31 अगस्त 2020 तक कुल 1,86,778 शिकायतें प्राप्त हुई, इनमें से 1,18,867 शिकायतें फोन बुलिंग एवं साइबर बुलिंग से संबंधित थीं, जिनमें से 1,02,251 शिकायतों का निस्तारण किया जा चुका है। साथ ही अवशेष शिकायतों का भी निस्तारण 1090 द्वारा प्राथमिकता से किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त 1700 शिकायतें स्टाकिंग से एवं 66,211 अपराध से संबंधित होने के कारण इन्हें जनपदीय पुलिस, जीआरपी तथा यूपी 112 को अंतरित किया गया है। एडीजी नीरा रावत ने बताया कि 1090 टीम द्वारा, महिलाओं के साथ अभद्रता करने एवं अश्लील हरकत करने वाले दो शातिर अपराधियों के विरुद्ध कार्रवाई करते हुए आईपीसी एवं आईटी एक्ट की विभिन्न धाराओं के अन्तर्गत सीतापुर के थाना मानपुर और रायबरी के थाना बछरांवा में अलग-अलग एफआईआर दर्ज कर गिरफ्तारी करायी गई। इन अभियुक्तों के विरुद्ध प्रदेश के विभिन्न जनपदों से 123 शिकायतें महिलाओं, लड़कियों द्वारा 1090 में दर्ज करायी गयी थी। उन्होंने बताया कि 1090 पर दर्ज शिकायतों का निष्पक्ष एजेंसी यूनिसेफ की प्रतिनिधि द्वारा थर्ड पार्टी एसेसमेण्ट कराया जा रहा है। इससे शिकायतों के निस्तारण का सही आकलन होता है तथा इकाई की विश्वसनीयता भी बढ़ती है। वीमेन पाॅवर लाइन-1090 में दर्ज शिकायतों में से ऐसी शिकायतें जिसमें सामान्य काउन्सलिंग के बाद भी आरोपित द्वारा पीड़ित को परेशान किया जाना पाया गया उन शिकायतों का निस्तारण 1090 की विशेष टीम द्वारा आरोपित के एफएफआर (फैमिली, फ्रेण्ड्स एवं रिलेटिव) काउन्सलिंग के माध्यम से किया गया। इस वर्ष माह अगस्त तक इस प्रकार की प्राप्त कुल 713 शिकायतों में एफएफआर काउन्सलिंग कर पीड़िताओं को राहत पहुंचायी गई है। हिन्दुस्थान समाचार/संजय-hindusthansamachar.in