वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम सीएम योगी ने किया विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना का शुभारम्भ
वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम सीएम योगी ने किया विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना का शुभारम्भ
उत्तर-प्रदेश

वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम सीएम योगी ने किया विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना का शुभारम्भ

news

-डीएम शेषमणि पांडेय ने लाभार्थियों को बाँटी टूल किट चित्रकूट ,17 सितम्बर (हि.स.)। विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के अंतर्गत टूल किट वितरण व मुद्रा योजनांतर्गत ऋण वितरण कार्यक्रम का शुभांरभ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से किया गया। गुरुवार को आयोजित इस कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्रीयोगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज एक साथ विश्वकर्मा जयंती व प्रधानमंत्री जी का जन्मदिन हम लोग मना रहे हैं। मैं प्रदेशवासियों को इस पावन पर्व पर बधाई देता हूं। भगवान विश्वकर्मा सृष्टि के रचयिता शिल्पि माने जाते थे उनका जन्मदिन कारखानों वर्कशॉप पर मनाते हैं। वह शिल्पी माल्यार्पण तक न रह जाए उनकी प्रेरणा से अच्छी तरह से कार्यक्रम को आगे बढ़ाएं। उन्होंने कहा कि वर्ष 2018 में दो योजनाओं का संचालन किया गया है। जिसमें 24 जनवरी 2018 को वन डिस्टिक वन प्रोजेक्ट को लागू किया गया। दूसरा प्रदेश के अंदर भारत के गांव जिसके लिए ग्राम स्वराज की परिकल्पना दिसंबर 2018 में विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना चलाया गया। जिसमें 16 कैटेगरी के लोगों को चिन्हित किया गया। उसमें बढ़ाई, लोहार, सुनार, मोची, कुम्हार, हलवाई आदि लोग शामिल है। इस तबके को उठाने का प्रयास किया जा रहा है कि इन लोगों के अंदर हुनर था पर मंच नहीं मिल रहा था। परंपरागत ज्ञान का अनुभव था पर सफल नहीं थे। इस योजना के माध्यम से निश्चित प्रशिक्षण देकर इस कार्यक्रम को बढ़ाया जा रहा है। इस योजना के अंतर्गत काफी संख्या में प्रशिक्षण में शामिल होकर लोग अपना कार्य कर रहे हैं और इस वर्ष एक लाख 12 हजार लोगों में से बीस हजार लोगों को प्रशिक्षण दिया गया है और भी लोगों को प्रशिक्षण दिलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधीजी के 150वीं जयंती के अवसर पर ग्राम स्वराज योजना की परिकल्पना को साकार किया गया। जिसमें विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना को लागू किया गया जो शासन की व्यवस्था से यह हर गांव में जोड़कर गांधी जी की परिकल्पना को साकार किया गया। यह लोग खुशहाल हो जाएंगे तो प्रदेश अपने आप खुशहाल होगा। प्रधानमंत्री मुद्रा योजना का लाभ बैंकों के अधिकारी अधिक से अधिक दें यह लोग अपना कर्ज अदा करेंगे। इसमें जिला प्रशासन को साथ देकर जनकल्याणकारी योजनाओं का आप लोग लाभ दें। आज चार हजार परिवार इस योजना के अंतर्गत अनेक रोजगार से जुड़ रहे हैं एक हलवाई तथा कुम्हार अकेले कार्य नहीं कर सकता है, उसमें और लोग शामिल होते हैं। उत्तर प्रदेश में इन योजनाओं को सफल बनाने की व्यापक संभावनाएं हैं। परंपरागत पेसे से जुड़े लोगों को आगे बढ़ाएंगे तो गांव व शहर आगे अपने आप पड़ेगा और आर्थिक स्थिति भी मजबूत होगी। प्रधानमंत्री पैकेज पर भी काफी लोगों को लाभ दिया जा सकता है। इसमें प्रदेश में लगभग दस लाख लोगों को लाभान्वित कराया जाएगा अब हमारी सभी गतिविधियां खुल चुकी हैं। सर्विलांस पर बहुत ताकत है लाइफ सपोर्ट एंबुलेंस संचालित है। मुख्यमंत्री जी ने विभिन्न जनपदों के लाभार्थियों से फीडबैक भी वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से लिया। साथ ही लाभार्थियों को टूल किट व चेक का वितरण किया गया। उन्होंने कहा कि यह योजना भारत को न केवल आत्मनिर्भर बनाएगा बल्कि आर्थिक स्थिति को भी मजबूत करेगा। इसके बाद जिलाधिकारी शेषमणि पांडेय तथा मुख्य विकास अधिकारी अमित आसेरी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान एनआईसी चित्रकूट में विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के अंतर्गत 7 लाभार्थियों को टूल किट व चेक वितरण तथा 6 लाभार्थियों को कंफर्म मुद्रा ऋण बैंक स्वीकृति पत्रों का वितरण किया। जिलाधिकारी ने उपायुक्त जिला उद्योग केंद्र को निर्देश दिए कि इस योजना के अंतर्गत जो 16 कैटेगरी के लोगों को चिन्हित किया गया है। उनको अधिक से अधिक लाभ दिलाया जाए। वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान उपायुक्त जिला उद्योग केंद्र एस के केसरवानी सहित संबंधित अधिकारी व लाभार्थी मौजूद रहे। हिन्दुस्थान समाचार/रतन/मोहित-hindusthansamachar.in