विश्व स्तनपान सप्ताह: आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने घर.घर जाकर बताए स्तनपान के लाभ
विश्व स्तनपान सप्ताह: आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने घर.घर जाकर बताए स्तनपान के लाभ
उत्तर-प्रदेश

विश्व स्तनपान सप्ताह: आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने घर.घर जाकर बताए स्तनपान के लाभ

news

गाजियाबाद, 02 अगस्त (हि.स.)। विश्व स्तनपान सप्ताह के दूसरे दिन आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने घर-घर जाकर स्तनपान के प्रति महिलाओ को जागरूक किया और इसके महत्व को भी समझाया। यह अभियान 7 अगस्त तक चलेगा। इस सप्ताह के दौरान आशा एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता घर.घर जाकर स्तनपान के लाभ बताती हैं। बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग की निदेशक की ओर से भेजे गए पत्र में कहा गया है कि स्तनपान शिशु की वृद्वि व विकास के लिए एक आदर्श व्यवहार है। स्तनपान शिशु का पहला टीकाकरण है, जो उसे मानसिक तथा शारिरिक रूप से स्वस्थ रखता है। मां के दूध में पाए जाने वाले पोषक तत्व शिशु की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ावा देते हैं तथा उसको बाल्यावस्था में होने वाली बीमारियों से बचाते हैं। पोषण अभियान के अन्तर्गत स्तनपान एक प्रमुख हस्तक्षेप है। जिला कार्यक्रम अधिकारी शशि वार्ष्णेय ने बताया कोविड प्रोटोकॉल के चलते इस विशेष सप्ताह के दौरान आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा घर.घर पुष्टाहार वितरण के दौरान प्राथमिकता के आधार पर नवजात शिशु से लेकर छह माह तक के बच्चों के घर जाकर स्तनपान के लाभ बता रही हैं। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता लक्ष्मी ने बताया कि दूसरे दिन रविवार ,फरूखनगर,खोड़ा असालतपुर, पसौड़ा व शहीद नगर आदि में नवजात बच्चों के घरों का भ्रमण किया गया और स्तनपान को लेकर जानकारी दी गई। हिन्दुस्थान समाचार/फरमान अली-hindusthansamachar.in