वाराणसी : लाठीचार्ज में घायल कार्यकर्ताओं का हाल जानने मंडलीय अस्पताल पहुंचे सपा नेता
वाराणसी : लाठीचार्ज में घायल कार्यकर्ताओं का हाल जानने मंडलीय अस्पताल पहुंचे सपा नेता
उत्तर-प्रदेश

वाराणसी : लाठीचार्ज में घायल कार्यकर्ताओं का हाल जानने मंडलीय अस्पताल पहुंचे सपा नेता

news

वाराणसी,15 सितम्बर (हि.स.)। जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन के दौरान लाठीचार्ज में घायल समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं का हाल जानने मंगलवार को पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री ओमप्रकाश सिंह कबीरचौरा स्थित मंडलीय शिवप्रसाद गुप्त अस्पताल पहुंचे। पूर्व मंत्री ने अस्पताल में भर्ती कार्यकर्ताओं का हौसला बढ़ाते हुए लाठीचार्ज की निंदा कर सरकार पर जमकर निशाना साधा। लाठीचार्ज में गंभीर रूप से जख्मी सछास के कार्यकर्ता राहुल सोनकर, संदीप, राहुल राजभर ने पूर्व मंत्री को पुलिस की बर्बरता को बताया। अस्पताल में घायल कार्यकर्ताओं का हाल पूर्व राज्यमंत्री (दर्जा प्राप्त) मनोज राय धूपचंडी ने भी जाना। लाठीचार्ज में कार्यकर्ताओं के मुंह, पैर, हाथ, कमर में आई चोट को देख पार्टी के नेता सरकार पर बरसते रहे। इसके पहले सोमवार की शाम भी घायल कार्यकर्ताओं को देखने के लिए स्थानीय नेता पहुंचते रहे। वाराणसी लोकसभा चुनाव में पार्टी की प्रत्याशी रही शालिनी यादव ने लाठीचार्ज को लेकर सरकार को कटघरे में खड़ा किया। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में जनहित के मुद्दों पर सरकार को घेरना राजनीतिक पार्टियों की जिम्मेदारी है। सपा तो इसके लिए जानी जाती है। जनता की परेशानियों के मुद्दों को उठाने पर प्रदेश सरकार लाठी के बल पर विरोध को कुचलना चाहती है, सरकार तानाशाही पर उतर आई है। कार्यकर्ता इससे डरने वाले नही है, बल्कि मजबूती के साथ जनता के हित के मुद्दे पूर्व की भांति भविष्य में भी उठाते रहेंगे। बताते चले, केंद्र और प्रदेश सरकार की नीतियों के खिलाफ सोमवार को जिला मुख्यालय पर उग्र प्रदर्शन कर रहे सपा कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया, तो कार्यकर्ताओं ने भी पथराव कर दिया। इसके बाद पुलिस बल ने बल प्रयोग कर 50 से अधिक कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया। लाठीचार्ज में घायल सात कार्यकर्ताओं की हालत बिगड़ने पर पुलिस ने उन्हें मंडलीय अस्पताल में भर्ती कराया है, जहां उनका इलाज चल रहा है। लाठीचार्ज में 20 से अधिक कार्यकर्ता घायल हुए है। इस मामले में सोमवार देर शाम शिवशंकर यादव, अमन यादव, किशन दीक्षित, राहुल सोनकर, राहुल सिंह यादव, संदीप साव, अखिलेश यादव, दीपचंद गुप्ता, किशन सेठ, रविकांत विश्वकर्मा के साथ ही 150 अज्ञात कार्यकर्ताओं के खिलाफ कैंट थाने में 7 सीएलए एक्ट, महामारी अधिनियम सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। हिन्दुस्थान समाचार/श्रीधर/दीपक-hindusthansamachar.in