वाराणसी: दुकानों पर लागू लेफ्ट-राइट की व्यवस्था के विरोध में व्यापारियों ने दिया धरना
वाराणसी: दुकानों पर लागू लेफ्ट-राइट की व्यवस्था के विरोध में व्यापारियों ने दिया धरना
उत्तर-प्रदेश

वाराणसी: दुकानों पर लागू लेफ्ट-राइट की व्यवस्था के विरोध में व्यापारियों ने दिया धरना

news

-सोमवार से शुक्रवार तक दोनों पटरी की दुकानों को खोलने की मंजूरी देने की मांग वाराणसी, 17 जुलाई (हि.स.)। कोरोना संकट काल में वाराणसी जिला प्रशासन के नए दिशा निर्देशों के अनुसार दुकानों और बाजार पर लागू लेफ्ट-राइट और 50 फीसदी ऑड-ईवन की पूर्व निर्धारित व्यवस्था को लेकर व्यापारियों में आक्रोश बढ़ रहा है। शुक्रवार को पिपलानी कटरा के समीप स्थित सरोजा पैलेस के पास वाराणसी व्यापार मंडल के बैनर तले जुटे व्यापारियों ने सड़क किनारे धरना देकर निर्धारित व्यवस्था पर पुर्नविचार की मांग की। सुबह 09 बजे से पूर्वाह्न 11 बजे तक बाहों पर काली पट्टी बांधे सांकेतिक धरने पर बैठे व्यापारियों ने दो गज की दूरी के नियमों का पालन करते हुए दो टूक कहा कि सप्ताह में पांच दिन दुकानों को खोलने की अनुमति मिले। या फिर 31 जुलाई तक बनारस बंद रहे। मंडल के महामंत्री प्रमोद अग्रहरि ने कहा कि वाराणसी में दिनों—दिन कोरोना संकट बढ़ता जा रहा है। दूसरी तरफ जिला प्रशासन ने पांच दिन शाम चार बजे तक लेफ्ट-राइट और 50 फीसदी ऑड-ईवन व्यवस्था के साथ दुकान खोलने की अनुमति दी है। इसके चलते लोगों का कामधाम ठप हो गया है। जिला प्रशासन के इस निर्देश के चलते एक पटरी के दुकानदार माह में महज आठ दिन ही दुकान खोल पा रहे हैं। इससे उनका व्यापार तो ठप हो ही गया है। लाइसेंस, दुकान का किराया, कर्मचारियों का वेतन,बिल का भुगतान, घर का घर कैसे चलेगा, इसको लेकर तनाव बढ़ता जा रहा है। इस विकट समस्या के समाधान पर बात करने के लिए अफसर फोन भी नहीं उठा रहे। व्यापार मंडल के अध्यक्ष अजीत सिंह बग्गा ने कहा कि जिला प्रशासन सोमवार से शुक्रवार को शाम सात बजे तक दोनों पटरी की दुकानों को खोलने की अनुमति दे। या फिर 31 जुलाई तक पूर्ण लॉकडाउन घोषित कर कोरोना का चेन तोड़े। धरना प्रदर्शन में रमेश निरंकारी, सनी जौहर, नन्हें जायसवाल, संतोष सिंह, कविन्द्र जायसवाल आदि शामिल रहे। हिन्दुस्थान समाचार/श्रीधर/संजय-hindusthansamachar.in