लाॅकडाउन रविवार को रहा बेअसर, अधिकतर दुकानें खुली रहीं
लाॅकडाउन रविवार को रहा बेअसर, अधिकतर दुकानें खुली रहीं
उत्तर-प्रदेश

लाॅकडाउन रविवार को रहा बेअसर, अधिकतर दुकानें खुली रहीं

news

- रक्षाबंधन पर्व के कारण मिठाई की दुकान खोलने की छूट देने का अन्य दुकानदारों ने उठाया भरपूर लाभ हापुड़, 02 अगस्त (हि. स.)। प्रदेश में कोरोना का संक्रमण पर नियंत्रण नहीं हो पाने से चिंतित प्रदेश सरकार ने प्रत्येक सप्ताह शनिवार और रविवार को सम्पूर्ण लाॅकडाउन घोषित किया है। इस रविवार को नगर में लाॅकडाउन पूरी तरह बेअसर रहा। सड़कों पर वाहनों का आवागमन लगभग सामान्य दिनों की भांति होता रहा और इस दौरान अधिकतर दुकानें भी खुली रही। प्रदेश सरकार ने कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए प्रति सप्ताह शनिवार और रविवार को प्रदेश में सम्पूर्ण लाॅकडाउन रखने की घोषणा की थी। विगत सप्ताहों में लाॅकडाउन का पालन होता भी रहा। पुलिसकर्मी भी चैराहों और प्रमुख स्थानों पर खड़े होकर सड़क पर आ जाने वाले इक्का-दुक्का वाहन चालकों के साथ सख्ती से पेश आते रहे हैं। इस सप्ताह सोमवार को रक्षाबंधन के पर्व को देखते हुए प्रदेश सरकार ने नागरिकों की सुविधा के लिए रविवार को लाक डाउन के बावजूद मिठाई और राखी बेचने वाली दुकानें खोलने की छूट दी थी। सरकार द्वारा दी गई इस छूट का लाभ मिठाई विक्रेताओं के अतिरिक्त अन्य वस्तुओं की बिक्री करने वाले दुकानदारों ने भी भरपूर उठाया। कन्टेनमेन्ट क्षेत्र को छोड़कर नगर के सभी प्रमुख बाजारों में रविवार को काफी दुकानें खुली रहीं। कुछ दुकानदारों ने दुकानों के शटर तो बन्द कर रखे थे और स्वयं दुकानों के बाहर बैठे थे। कोई ग्राहक आता तो दुकानदार एकत्र होकर उसकी आवश्यकता की जानकारी लेने लगते। ग्राहक की आवश्यकता वाला सामान बेचने वाला दुकानदार दुकान का शटर उठा कर उसे सामान बेचने के बाद पुनः शटर बन्द कर देता था। रेलवे रोड पर तो ऐसा लगता ही नहीं था कि कोरोना संक्रमण के कारण सरकार ने अतिरिक्त सतर्कता बरतने और मिठाई की दुकानों और मेडिकल स्टोर के अतिरिक्त अन्य सभी दुकानों को बन्द रखने के निर्देश दिए हैं। इस मार्ग पर फल और सब्जी बेचने वालों की भरमार रही। एक फल विक्रेता ने तो बाकायदा सड़क पर ही पूरी दुकान लगा रखी थी। इसके अतिरिक्त चंडी मार्ग, बड़ी मंडी, छोटी मंडी, सर्राफा बाजार, कोठी गेट का बाजार, भगवती गंज, पक्का बाग, स्वर्ग आश्रम मार्ग आदि स्थानों के बाजारों में अधिकतर दुकानें खुली हुई थीं। सड़कों पर स्कूटर, बाइक और कारों का आवागमन लगभग सामान्य दिनों की भांति दिखाई दिया। कुछ लोग मिठाई खरीदने आए तो कुछ लोग अपनी पत्नी अथवा परिवार की अन्य महिला सदस्य को उसके भाई के पास छोड़ने जा रहे थे। इसके अलावा कुछ लोग इस स्थिति का लाभ उठा कर ऐसे भी सड़कों पर घूम रहे थे, जिन्हें कोई विशेष काम नहीं था। वह केवल हालात का जायजा लेने के नाम पर घूम रहे थे। रविवार को सड़कों पर पुलिसकर्मियों की संख्या भी काफी कम दिखाई दी। जो पुलिसकर्मी विभिन्न स्थानों पर तैनात भी थे, तो उनमें से अधिकतर बैठे ऊंघ रहे थे। सड़कों पर घूम रहे वाहन चालकों से पूछताछ तो कोई भी नहीं कर रहा था। कुल मिला कर अगस्त माह का पहला रविवार लाॅक डाउन होने के बावजूद सामान्य दिनों की भांति रहा। हिन्दुस्थान समाचार/विनम्र व्रत त्यागी-hindusthansamachar.in