लघु उद्योगों को सीमैप का तकनीकी हस्तानांतरण आत्मनिर्भर भारत के लिए सार्थक कदम: डॉ. महेन्द्र पांडेय
लघु उद्योगों को सीमैप का तकनीकी हस्तानांतरण आत्मनिर्भर भारत के लिए सार्थक कदम: डॉ. महेन्द्र पांडेय
उत्तर-प्रदेश

लघु उद्योगों को सीमैप का तकनीकी हस्तानांतरण आत्मनिर्भर भारत के लिए सार्थक कदम: डॉ. महेन्द्र पांडेय

news

-हर्बल उत्पाद मोसप्रे- हर्बल उत्पाद मोसप्रे- मोस्किटों रेपेलेंट स्प्रे का केन्द्रीय मंत्री ने किया विमोचन लखनऊ, 17 अक्टूबर (हि.स.)। केन्द्रीय औषधीय एवं सगंध पौधा संस्थान (सीमैप), लखनऊ द्वारा विकसित हर्बल उत्पाद मोसप्रे- मोस्किटों रेपेलेंट स्प्रे शनिवार को विमोचन किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि केन्द्रीय कौशल विकास मंत्री डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय थे। उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भर भारत के लिए सीमैप द्वारा भारतीय लघु उद्योगों को तकनीकी हस्तानांतरण एक सार्थक कदम है। उन्होंने इस अवसर पर भारतीय रिसर्च संस्थानों से आत्मनिर्भर भारत के लिए कार्य करने पर जोर दिया। उन्होंने सीमैप द्वारा भारतीय लघु उद्योगों को तकनीकी हस्तांतरण को इस दिशा में एक सार्थक कदम बताया। कार्यक्रम में सीएसआईआर-सीमैप के निदेशक डॉ. प्रबोध कुमार त्रिवेदी ने संस्थान की गतिविधियों तथा हर्बल उत्पादों तथा सीमैप में चल रहे विभिन्न कौशल विकास कार्यक्रमों के बारे में बताया। संस्थान द्वारा मेसर्स माँ दुर्गा मार्केटिंग, चन्दौली, बनारस, उत्तर प्रदेश के निदेशक देव भट्टाचार्य को तकनीकी हस्तांतरित की गई थी। कंपनी इस उत्पाद को बाजार में उतारने जा रही है। इस हेतु सीमैप द्वारा एक ऑनलाइन कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस बैठक में प्रो. यस के बारीक, निदेशक, सीएसआईआर-एनबीआरआई, लखनऊ, तथा सीएसआईआर-सीमैप, लखनऊ से डॉ. रमेश कुमार श्रीवास्तव, डॉ. संजय कुमार, इंजी. मनोज सेमवाल, आदि भी उपस्थिति थे। हिन्दुस्थान समाचार/उपेन्द्र/संजय-hindusthansamachar.in