रेलवे व्रिज का कार्य ठीक न होने पर डीएम ने लगाई उप परियोजना प्रबंधक को फटकार
रेलवे व्रिज का कार्य ठीक न होने पर डीएम ने लगाई उप परियोजना प्रबंधक को फटकार
उत्तर-प्रदेश

रेलवे व्रिज का कार्य ठीक न होने पर डीएम ने लगाई उप परियोजना प्रबंधक को फटकार

news

डीएम ने सीएम के विकास प्राथमिकता कार्यक्रमों की ली समीक्षा बैठक फिरोजाबाद, 7 सितम्बर (हि.स.)। मुख्यमंत्री के विकास प्राथमिकता कार्यक्रमों की समीक्षा बैठक में सोमवार को जिलाधिकारी ने सभी सम्बन्धित अधिकारियों को अपनी विभागीय योजनाओं में तेजी लाने एवं कार्यदायी संस्थाओं को गुणवत्ता के साथ समय से निर्माण कार्य को पूरा करने के दिये निर्देश दिये है। उन्होंने रेलवे व्रिज का कार्य ठीक न होने पर उत्तर प्रदेश सेतु निर्माण निगम के उप परियोजना प्रबंधक को भी फटकार लगाई। जिलाधिकारी चंद्र विजय सिंह ने समीक्षा बैठक में एक-एक कर सभी विभागों के विकास कार्यों एवं उनकी विभागीय योजनाओं व कार्यक्रमों की समीक्षा की। समीक्षा के दौरान उन्होने कार्यांे के अद्यतन प्रगति के फोटोग्राॅफ्स प्रेजेंटेशन प्रोजेक्टर के माध्यम से यथा स्थिति को जाना। बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने जनपद में निर्माण कराये जा रहे कुछ रेलवे ब्रिज का कार्य ठीक न होने पर उत्तर प्रदेश सेतु निर्माण निगम के उप परियोजना प्रबन्धक डी. के. यादव को फटकार लगाते हुये कहा कि उन्होने विजयपुरा-मटसेना मार्ग रेलवे ब्रिज सहित लगातार कई रेलवे सेतु का मौके पर जाकर निरीक्षण किया है, जिसमें कही रोड़ में गढ्ढे कोने के झुकाव, फिनिशिंग तो कही सर्विस रोड़ टूटे पाये गये। इस सबको दृष्टिगत रखते हुये उन्होने रेलवे सेतु के कार्यों की गुणवत्ता की जांच कराने के लिए टास्क फोर्स समिति को निर्देश दिए है। उन्होने सेतु निगम के प्रोजेक्ट मैनेजर को कडे निर्देश दिए कि वह लेवर काॅलोनी मार्ग पर निर्माणाधीन रेलवे ब्रिज के कार्य मंे तेजी लाए और ब्रिज के खम्भों, बीम आदि पर वालपेंटिंग कराई जाए, जिस पर स्वच्छता, शिक्षा, स्वास्थ्य व कोविड सम्बन्धी संदेशों को उकेरा जाए। बैठक के दौरान उन्होने सभी खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देश दिए कि वह अपने-अपने क्षेत्र के गौ आश्रय स्थलों पर गांयों के लिए हरा चारा बोया जाना सुनिश्चित करें और उसके फोटोग्राफस प्रस्तुत करें और यह कार्य रूचि लेकर कराए। उन्होने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिए कि वह गौशालाओं का निरीक्षण भी करते रहें। उन्होने कहा कि सभी अधिशाषी अधिकारी नगर पालिका, नगर पंचायतें अपने-अपने क्षेत्रांे में जल भराव नही होेने दें, इससे बीमारी पैदा होने की सम्भावना रहती है। उन्होने सहायक श्रमायुक्त को निर्देश दिए कि वह श्रमिकों के पंजीयन अधिक से अधिक कराए। जनपद में कोई भी श्रमिक पंजीयन से छूटने न पाए और श्रमिकांे को मिलने वाले लाभों को उन्हे दिलाने की प्रक्रिया मेें तेजी लाए। उन्होने उप निदेशक कृषि को निर्देश दिए कि वह वर्मीकम्पोस्ट के गढढों को 15 दिन के अंदर शत-प्रतिशत बनवाना सुनिश्चित करें। उन्होने यह भी निर्देश दिए की प्रधानमंत्री सम्मान निधि के लाभार्थियों को उनके बैंक खातों में धनराशि शीघ्रता से पहुचवाना सुनिश्चित करें। बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी नेहा जैन, अपर जिलाधिकारी आदित्य प्रकाश श्रीवास्तव, नगर आयुक्त विजय कुमार, जिला विकास अधिकारी अरविन्द जैन, जिला पिछडा वर्ग कल्याण अधिकारी अनुपम राय, बेसिक शिक्षाधिकारी अरविन्द कुमार पाठक सहित सम्बन्धित अधिकारीगण आदि उपस्थित रहे। हिन्दुस्थान समाचार/कौशल/मोहित-hindusthansamachar.in