राहत : 21 सितम्बर से पटरी पर दौड़ेंगी 20 जोड़ी क्लोन ट्रेनें, सेंट्रल पर व्यवस्था पूरी
राहत : 21 सितम्बर से पटरी पर दौड़ेंगी 20 जोड़ी क्लोन ट्रेनें, सेंट्रल पर व्यवस्था पूरी
उत्तर-प्रदेश

राहत : 21 सितम्बर से पटरी पर दौड़ेंगी 20 जोड़ी क्लोन ट्रेनें, सेंट्रल पर व्यवस्था पूरी

news

कानपुर, 17 सितम्बर (हि. स.)। भारतीय रेलवे विभाग अपनी 21 सितम्बर से 20 जोड़ी क्लोन स्पेशल ट्रेनों को चलाने की तैयारियों में जुट गया है। इनमें से कुछ ट्रेनों का रूट वाया कानपुर से होकर गुजरेगा जिससे यात्रियों को यात्रा में सुविधा होगी। कानपुर सेंट्रल के मुख्य यातायात प्रबंधक हिमांशु शेखर उपाध्याय ने बताया कि 21सितम्बर से 20 जोड़ी क्लोन ट्रेनों का संचालन शुरू होने जा रहा है। जिसमें कि ट्रेनों में यात्रा के लिए 19 सितम्बर से टिकटों की बुकिंग शुरू कर दी जाएगी। उन्होंने बताया कि रेल मंत्रालय द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार मंगलवार को बताया कि ये क्लोन स्पेशल ट्रेनों की सेवाएं श्रमिक स्पेशल व पहले से संचालित 310 स्पेशल ट्रेनों के अलावा चलेगी। क्लोन ट्रेन का आशय किसी ट्रेन के नाम पर चलने वाली दूसरी ट्रेन को क्लोन ट्रेन भी कह सकते हैं। ये क्लोन ट्रेन मूल ट्रेन के रवाना होने के कुछ देर बाद अपने गंतव्य को भेजी जाएगी। क्लोन ट्रेनों का संचालन अपने अधिसूचित समय पर चलेंगी और ये सम्पूर्णता आरक्षित ट्रेनें होगी। जिसमें कि इन ट्रेनों में से कुछ ट्रेनों का रूट वाया कानपुर होकर जाएगी जिसके लिए सारी तैयारियां पूरी कर ली गईं हैं। इन ट्रेनों में 19 जोड़ी क्लोन विशेष रेलों में हमसफ़र रेक का इस्तेमाल होगा। जिसमे एक जोड़ी ट्रेन लखनऊ-दिल्ली क्लोन स्पेशल जन शताब्दी एक्सप्रेस के रूप में चलेगी। इन ट्रेनों में हमसफर रेक का किराया हमसफर ट्रेनों के रूप में होगा और जनशताब्दी रेक का किराया जनशताब्दी एक्सप्रेस के रूप में लिया जाएगा। साथ ही बची हुई तैयारियों के लेकर काम शुरू कर दिया गया है जो कि 19 के पहले ही खत्म कर दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि कोरोना महामारी के दौरान रेलवे विभाग बहुत ज्यादा संकट दौर से गुजरा है जिसे पटरी पर लाने के लिए सरकार व रेलवे विभाग ने अपनी अपनी कमर कस ली। कानपुर सेंट्रल में आने व जाने वाले यात्रियों के लिए कोविड 19 को देखते हुए सभी सुरक्षा के इंतजाम कर लिए गए है। जिसमें कि कैंट स्थित प्लेटफॉर्म नम्बर एक में थर्मल स्कैनिंग, सामान सेनिटाईजेशन व यात्रियों के लिए हैंड सेनिटाइजर की भी व्यवस्था की गई है। साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग को देखते हुए एक एक मीटर के गोले बनाए गए जिससे कोविड 19 की दी गयी गाइड लाइन का पालन हो सके। हिन्दुस्थान समाचार/हिमांशु/मोहित-hindusthansamachar.in