रासायनिक गतिकी रसायन विज्ञान विषय के लिए महत्वपूर्णः डाॅ. घोष
रासायनिक गतिकी रसायन विज्ञान विषय के लिए महत्वपूर्णः डाॅ. घोष
उत्तर-प्रदेश

रासायनिक गतिकी रसायन विज्ञान विषय के लिए महत्वपूर्णः डाॅ. घोष

news

-विश्वविद्यालय के बीएससी प्रोग्राम में हुआ द्वितीय वेब व्याख्यान अयोध्या,17 सितम्बर (हि.स.)। डाॅ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के बीएससी प्रोग्राम के तहत द्वितीय वेब व्याख्यान का आयोजन गुरुवार को किया गया। संबोधित करते हुए एमएनआईटी, जयपुर के मुख्य वक्ता डॉ. सुरजीत घोष ने रासायनिक गतिकी के माध्यम से रसायन विज्ञान विषय के अध्ययन और अध्यापन पर जोर दिया। डॉ. घोष ने व्याख्यान के दौरान रासायनिक गतिकी के माध्यम से सजातीय व विजातीय अभिक्रियाओं की विस्तृत जानकारी प्रदान की। इसी क्रम में उन्होंने आदर्श रिएक्टर, बैच रिएक्टर, सीएसटीआर रिएक्टर व पीएफआर रिएक्टर के माध्यम से जटिल रसायनिक अभिक्रियाओं की क्रियाविधि पर विस्तृत जानकारी दी। डाॅ. घोष ने बताया कैसे रासायनिक अभिक्रिया की दर के माध्यम से विभिन्न अभिक्रिया उत्पादों पर नियंत्रण पाया जा सकता है। कार्यक्रम में बीएससी प्रोग्राम के समन्वयक प्रो.के.के. वर्मा ने बताया कि विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. रविशंकर सिंह के मार्गदर्शन में शैक्षणिक गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए इस तरह के व्याख्यान का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने प्रतिभागियों को मुख्य वक्ता डॉ0 घोष के शैक्षिक व शोध उपलब्धियों से अवगत भी कराया। वेब व्याख्यान की सहायक संयोजिका डॉ. मिथिलेश तिवारी ने डॉ. सुरजीत घोष सहित अन्य प्रतिभागियों का स्वागत एवं कार्यक्रम के अंत में धन्यवाद ज्ञापित किया। इस अवसर पर विभाग के शिक्षक डॉ. अश्विनी कुमारए डॉ. जीतेन्द्र कौशल श्रीवास्तव, डाॅ. संजीव कुमार सिंह, डॉ. गया प्रसाद तिवारी, इंजीनियर रजत चौरसिया व शिक्षिका निधि अस्थाना सहित विभाग के समस्त छात्र व छात्राएं उपस्थित रहे। हिन्दुस्थान समाचार/ पवन-hindusthansamachar.in