राष्ट्र निर्माण की भूमिका में नीव की ईट है देश का अधिवक्ता-अरुण
राष्ट्र निर्माण की भूमिका में नीव की ईट है देश का अधिवक्ता-अरुण
उत्तर-प्रदेश

राष्ट्र निर्माण की भूमिका में नीव की ईट है देश का अधिवक्ता-अरुण

news

कासगंज 24 जुलाई (हि.स.)। कासगंज में अधिवक्ता परिषद उत्तर प्रदेश का 29 वां स्थापना दिवस मनाया गया। स्थापना दिवस में स्वयंसेवक संघ के पदाधिकारियों ने अधिवक्ताओं को राष्ट्र निर्माण की भूमिका में नीव की ईट बताया। अधिवक्ताओं ने भी परिषद के उद्देश्य एवं 28 वर्षों की उपलब्धियों के संबंध में जानकारी दी। शुक्रवार की दोपहर नदरई गेट स्थित केशव भवन में आयोजित स्थापना दिवस कार्यक्रम के दौरान राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विभाग संघचालक उमाशंकर शर्मा भारत मां के चित्र पर दीप प्रज्वलित एवं माल्यार्पण कर शुभारंभ किया। मुख्य वक्ता के रूप में मौजूद राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विभाग प्रचारक अरुण ने कहा कि अधिवक्ता देश व समाज की नींव की ईंट है बड़ी-बड़ी समस्याओं के समाधान में राष्ट्रवादी अधिवक्ताओं की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। उन्होंने कहा कि श्री राम मंदिर निर्माण का हल अथिवक्ताओं द्वारा निकाला गया है। अधिवक्ता परिषद की यात्रा एवं उद्देश्य पर प्रकाश डालते हुए डीजीसी क्राइम संजीव यदुवंशी ने कहा कि विगत 28 वर्षों में अधिवक्ता परिषद देश का राष्ट्रव्यापी सबसे बड़ा संगठन है। जो कानून के क्षेत्र में देश में बड़े बदलाव ला रहा है। यह राष्ट्रीय सोच का पोषक संगठन है। अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विभाग संघचालक उमाशंकर शर्मा ने कहा कि अधिवक्ता कानून का सजग प्रहरी है। राष्ट्र हित समाज हित में एवं देश के सांस्कृतिक मूल्यों के हितों के लिए अधिवक्ताओं निज स्वार्थ से उठकर सोचना चाहिए। अधिवक्ता विद्वान होता है, तथा सामान्य जनमानस का प्रेरणा स्रोत होता है। इस मौके पर उपस्थित जिला कार्यवाह दीपराज माहेश्वरी,, परिषद के अध्यक्ष अरुण माहेश्वरी, महामंत्री राजीव वशिष्ठ, सुरेश साहू, ब्रजराज सिंह शाक्य, संजीव कुमार दरक, गिरजा शंकर दुबे, नंदकिशोर पाथरे, हरिओम, सुखबीर सिंह, विश्वनाथ प्रताप सिंह, संदीप मिश्रा, अरुण कुमार सिंह, तेजेंद्र सिंह, उमाकांत सहित अन्य अधिवक्ता गण उपस्थित रहे। हिन्दुस्थानसमाचार/ पुष्पेंद्र/मोहित-hindusthansamachar.in