रामनगरी में प्रधानमंत्री के जन्मदिन पर जगद्गुरु ने किया अश्वमेध महायज्ञ
रामनगरी में प्रधानमंत्री के जन्मदिन पर जगद्गुरु ने किया अश्वमेध महायज्ञ
उत्तर-प्रदेश

रामनगरी में प्रधानमंत्री के जन्मदिन पर जगद्गुरु ने किया अश्वमेध महायज्ञ

news

अयाेध्या, 17 सितम्बर (हि.स.)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 70वें जन्माेत्सव पर गुरुवार को आचार्य पीठ तपस्वी छावनी में अश्वमेध महायज्ञ का आयाेजन किया गया। यज्ञशाला में आहुति डालने के बाद प्रधानमंत्री की दीर्घायु जीवन की कामना की गई। साथ ही संताें ने मिठाई बांटी। जन्माेत्सव कार्यक्रम को पीठ के जगद्गुरु स्वामी परमहंस आचार्य ने अपनी सानिध्यता प्रदान की। इस अवसर पर स्वामी परमहंस ने कहा कि माेदी ने देशहित में बड़े-बड़े फैसले लिए हैं। चाहे वह 370 और 35ए का मामला हाे या ट्रिपल तलाक का। सभी को उन्हाेंने हटवाया। राम जन्मभूमि का ऐतिहासिक फैसला भी माेदी के समय में आया। नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में राममंदिर का निर्माण हाे रहा है। देश निरंतर विकास के पथ पर अग्रसर है। जिस तरह माेदी ने बड़े-बड़े कार्य किए हैं उसी तरह से हिंदुस्तान काे हिंदू राष्ट्र घाेषित किया जाना चाहिए। उम्मीद है कि माेदी के नेतृत्व में भारत हिंदू राष्ट्र घाेषित हाे। इसी उद्देश्य के साथ उन्हें दीर्घायु जीवन मिले। क्याेंकि जाे कार्य पीएम माेदी ने किया है वह अभी तक किसी ने नहीं किया। जगद्गुरु ने कहा कि मुगलकाल, ब्रिटिश शासन या कांग्रेस काल रहा है। भारतीय संस्कृति पर इन लाेगाें ने जाे कुठाराघात किया था। माेदी के नेतृत्व में पूरी भारतीय संस्कृति फिर से प्रतिष्ठित हाे रही है। बहुत जल्द ही वह समय आने वाला है जब भारत में पुन: रामराज्य का सूत्रपात हाे जायेगा और हिंदुस्तान फिर से विश्व गुरू बनेगा। उन्हाेंने कहा कि हिंदुस्तान काे हिंदू राष्ट्र घाेषित कराने काे लेकर 12 अक्टूबर से मैं आमरण-अनशन पर बैठने वाला हूं। इसकी सूचना छ: महीने पहले ही प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री काे दी जा चुकी है। हिन्दुस्थान समाचार/पवन/दीपक-hindusthansamachar.in