राज्यसभा चुनाव: सपा समर्थित उम्मीदवार का पर्चा खारिज, अब सभी का निर्विरोध निर्वाचन तय
राज्यसभा चुनाव: सपा समर्थित उम्मीदवार का पर्चा खारिज, अब सभी का निर्विरोध निर्वाचन तय
उत्तर-प्रदेश

राज्यसभा चुनाव: सपा समर्थित उम्मीदवार का पर्चा खारिज, अब सभी का निर्विरोध निर्वाचन तय

news

लखनऊ, 28 अक्टूबर (हि.स.)। उत्तर प्रदेश से राज्यसभा की दस सीटों के लिए हो रहे चुनाव में बुधवार को दिनभर चले नाटकीय घटनाक्रम के बाद समाजवादी पार्टी (सपा) द्वारा समर्थित निर्दलीय उम्मीदवार प्रकाश बजाज का नामांकन पत्र देर शाम खारिज कर दिया गया। इसके बाद अब चुनाव में सभी दस उम्मीदवारों का निर्विरोध निर्वाचन तय हो गया है। निर्वाचन अधिकारी अशोक कुमार ने सपा समर्थित निर्दलीय उम्मीदवार प्रकाश बजाज के नामांकन पर आपत्तियों को स्वीकार करते हुए उनका नामांकन पत्र देर शाम को खारिज कर दिया। इस दौरान बसपा उम्मीदवार के परचे के खिलाफ भी आपत्तियां आयी थीं, जिसे निर्वाचन अधिकारी ने निरस्त करते हुए उनके नामांकन को वैध बताया। प्रकाश बजाज के नामांकन रद्द होने के बाद अब दस सीटों के लिए दस उम्मीदवार चुनाव मैदान में बचे हैं। ऐसे में यह माना जा रहा है कि सभी उम्मीदवार अब निर्विरोध निर्वाचित होंगे। नाम वापसी की अंतिम तिथि दो नवम्बर है, उसी दिन सभी उम्मीदवारों के निर्विरोध निर्वाचन की घोषणा की जा सकती है। राज्यसभा की दस सीटों के लिए भाजपा के आठ और सपा व बसपा की तरफ से एक-एक उम्मीदवार मैदान में हैं। इनमें भाजपा की तरफ से केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी, पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री अरुण सिंह, उप्र के पूर्व पुलिस महानिदेशक ब्रजलाल, पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर के बेटे नीरज शेखर, हरिद्वार दुबे, गीता शाक्य, सीमा द्विवेदी और बीएल वर्मा शामिल हैं। वहीं सपा से प्रो. रामगोपाल यादव व बसपा से रामजी गौतम उम्मीदवार हैं। अब इन सभी उम्मीदवारों का राज्य सभा में जाना तय माना जा रहा है। हिन्दुस्थान समाचार/ पीएन द्विवेदी-hindusthansamachar.in