रक्षाबन्धन के पर्व पर चलेंगी 09 हजार से अधिक रोडवेज बसें
रक्षाबन्धन के पर्व पर चलेंगी 09 हजार से अधिक रोडवेज बसें
उत्तर-प्रदेश

रक्षाबन्धन के पर्व पर चलेंगी 09 हजार से अधिक रोडवेज बसें

news

लखनऊ, 27 जुलाई (हि.स.)। उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम (रोडवेज) रक्षाबन्धन के पर्व पर 09 हजार से अधिक बसें चलाएगा। इस बार रक्षाबन्धन का पर्व 03 अगस्त को है। परिवहन निगम प्रशासन रक्षाबन्धन के पर्व पर 9,300 बसों का संचालन करेगा। इसके अलावा यात्रियों के अधिक दबाव वाले मार्गों पर रोडवेज बसों का संचालन दोगुना किया जाएगा। ताकि यात्रियों को रक्षाबन्धन के पर्व पर आने-जाने में दिक्कतें न होने पाए। लखनऊ के कैसरबाग, आलमबाग, चारबाग और अवध बस स्टेशन से 800 से अधिक बसों के संचालन की योजना है। इसमें लखनऊ की 170 एसी बसें भी शामिल हैं। परिवहन निगम के पास इस समय करीब 812 एसी लग्जरी बसें हैं। इनमें वाल्वो, स्कैनिया, महिला पिंक, स्लीपर, जनरथ और शताब्दी बसें शामिल हैं। रक्षाबन्धन के पर्व पर परिवहन निगम 400 से अधिक एसी बसें चलाने की तैयारी में है। फिलहाल रक्षाबन्धन के पर्व पर यात्रियों की संख्या के अनुसार बसों के संचालन का प्रस्ताव तैयार हो गया है। परिवहन निगम प्रशासन रक्षाबन्धन के दिन महिलाओं के लिए नि:शुल्क बसें चलाने पर विचार कर रहा है। इस बारे में अन्तिम निर्णय जल्द ही किया जाएगा। परिवहन निगम के प्रबन्ध निदेशक डॉ. राजशेखर ने सोमवार को बताया कि रक्षाबन्धन के मौके पर इस बार 9,300 बसों की संचालन की तैयारियां की जा रही हैं। कोरोना महामारी के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सुरक्षित संचालन पर पूरा जोर दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि रक्षाबन्धन के पर्व पर यात्रियों का आवागमन अधिक बढ़ जाता है। इसलिए यात्रियों के दबाव वाले मार्गों पर बसों का संचालन दोगुना करने का प्रस्ताव तैयार हो गया है। गौरतलब है कि परिवहन निगम के बेड़े में 12,000 से अधिक बसें हैं। इस समय कोरोना महामारी को देखते हुए सीमित बसों का संचालन किया जा रहा है। फिलहाल रोडवेज बसों में यात्रियों की संख्या पहले की अपेक्षा काफी कम है। रक्षाबन्धन के पर्व पर यात्रियों की संख्या तेजी से बढ़ेगी। हिन्दुस्थान समाचार/दीपक/संजय-hindusthansamachar.in