यूनिफार्म सिविल कोड को पूरा लागू किया जाएः जगतगुरु शंकराचार्य
यूनिफार्म सिविल कोड को पूरा लागू किया जाएः जगतगुरु शंकराचार्य
उत्तर-प्रदेश

यूनिफार्म सिविल कोड को पूरा लागू किया जाएः जगतगुरु शंकराचार्य

news

गाजियाबाद, 07 सितम्बर(हि.स.)। जगतगुरु शंकराचार्य नरेंद्रानंद सरस्वती ने कहा है कि देश में यूनिफार्म सिविल कोड अभी आधा ही लागू हुआ है। सरकार को इसे पूरी तरह से लागू करना चाहिए। जगतगुरु सोमवार को यहां धार्मिक सदभावना एवं विश्व शांति केंद्र में यूनिफार्म सिविल कोड विषय पर आयोजित एक वेबिनार में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि यूनिफार्म सिविल कोड का मतलब है विवाह, तलाक , गोद लेना , सम्पति विभाजन पर सब के लिए एक जैसा कानून है। जब भारत सरकार तीन तलाक की प्रथा को खत्म कर चुकी है तो यूनिफार्म सिविल कोड आधा तो लागू हो ही चुका है। जब 42वें संविधान संसोधन में धर्म निरपेक्षता लाई गई तो सब धर्मों के लिए एक जैसे वर्ताव की बात कही गई। उच्चतम न्यायालय भारत सरकार को यूनिफार्म सिविल कोड को लागू करने ले लिए चार बार कह चुका है। पावन चिंतन धारा के संस्थापक श्री गुरु पवन सिन्हा ने कहा कि चीन , रूस और आस्ट्रेलिया में भी मुस्लिम रहते हैं परन्तु वहाँ वो शरियत की बात नही करते अर्थात हिन्दुस्तान में यूनिफार्म सिविल कोड का विरोध सैधांतिक नही बल्कि राजनैतिक है। देश की सुरक्षा और विकास के लिए यूनिफार्म सिविल कोड को अगले सत्र में ही पास किया जाना चाहिए। विश्व अहिंसा भारती के संस्थापक अध्यक्ष आचार्य लोकेश मुनि, यहूदियों के भारतीय मुखिया राबी एजकल आईसेक मालेकर, भारत की बहाबी सोसाइटी के अध्यक्ष डा ऐ के मर्चेंट, त्ववजे के अलावसा सुशील पंडित, आध्यात्मिक गुरु स्वामी दीपांकर, संचार रत्न श्री एम के सेठ व महासचिव कर्नल तेजेंद्र पाल त्यागी ने अपने विचार रखे। हिन्दुस्थान समाचार /फरमान अली-hindusthansamachar.in