मुख्यमंत्री योगी बोले, जीएसटी राजस्व संग्रह की समीक्षा और रिटर्न भरने के लिए व्यापारियों को करें प्रशिक्षित
मुख्यमंत्री योगी बोले, जीएसटी राजस्व संग्रह की समीक्षा और रिटर्न भरने के लिए व्यापारियों को करें प्रशिक्षित
उत्तर-प्रदेश

मुख्यमंत्री योगी बोले, जीएसटी राजस्व संग्रह की समीक्षा और रिटर्न भरने के लिए व्यापारियों को करें प्रशिक्षित

news

-आयुष्मान भारत योजना में गोल्डन कार्ड बनाने की प्रक्रिया में तेजी लाने के निर्देश -कहा, रोजगार उपलब्ध कराने को जिला सेवायोजन कार्यालय को केन्द्र बनाकर कार्यवाही करें संचालित लखनऊ, 20 दिसम्बर (हि.स.)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जीएसटी राजस्व संग्रह की समीक्षा किए जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि व्यापारियों को जीएसटी के तहत रजिट्रेशन के लाभ की जानकारी देते हुए पंजीयन के सम्बन्ध में प्रेरित व प्रोत्साहित किया जाए। मुख्यमंत्री ने रविवार को कहा कि जीएसटी के तहत रजिस्ट्रेशन तथा रिटर्न फाइलिंग के सम्बन्ध में सरल भाषा में पठनीय सामग्री तैयार कर व्यापारियों को उपलब्ध कराई जाए। जीएसटी रिटर्न भरने के सम्बन्ध में व्यापारियों को प्रशिक्षित किया जाए। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने आयुष्मान भारत योजना के अन्तर्गत गोल्डन कार्ड बनाने की प्रक्रिया में तेजी लाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत योजना के प्रत्येक पात्र परिवार को गोल्डन कार्ड उपलब्ध कराने के लिए विशेष प्रयास किए जाएं। मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारियों को इस कार्य की नियमित समीक्षा तथा माॅनिटरिंग करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि वहीं युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए जिला सेवायोजन कार्यालय को केन्द्र बनाकर कार्यवाही संचालित की जाए। जिला सेवायोजन अधिकारियों को नोडल अधिकारी नामित कर जनपद में रोजगार उपलब्ध कराने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। उन्होंने कहा कि प्रत्येक जनपद में रोजगार की उपलब्धता के सम्बन्ध में डाटाबेस तैयार किया जाए। सभी जनपदों का रोजगार प्लान बनाया जाए। इसके अलावा विभिन्न रोजगारपरक योजनाओं की जानकारी उपलब्ध कराने के सम्बन्ध में एक वेवसाइट भी विकसित की जाए। इस वेबसाइट पर रोजगार के अवसरों की उपलब्धता की जानकारी के साथ-साथ आवेदन का विकल्प भी होने चाहिए। हिन्दुस्थान समाचार/संजय/दीपक-hindusthansamachar.in