मुख्यमंत्री योगी बोले, किसान हितों से खिलवाड़ करने वाले कर रहे ओछी राजनीति
मुख्यमंत्री योगी बोले, किसान हितों से खिलवाड़ करने वाले कर रहे ओछी राजनीति
उत्तर-प्रदेश

मुख्यमंत्री योगी बोले, किसान हितों से खिलवाड़ करने वाले कर रहे ओछी राजनीति

news

लखनऊ, 23 दिसम्बर (हि.स.)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किसान दिवस पर एक बार अन्नदाताओं को विश्वास दिलाया कि केन्द्र और राज्य सरकार उनके साथ है। नए कृषि कानून किसानों के हित में हैं। विपक्ष इस पर सियासत कर रहा है। उन्होंने बुधवार को यहां किसान सम्मान दिवसर आयोजित कार्यक्रम में कहा कि सरकार बार-बार कह रही है कि मंडियां समाप्त नहीं होंगी, न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) खत्म नहीं होगी, फिर भी किसानों को गुमराह किया जा रहा है। मंडियों को ई-तकनीक से जोड़ने का कार्य हुआ है। किसान हितों से खिलवाड़ करने वाले ओछी राजनीति कर रहे हैं। जिन्हें किसानों की प्रगति अच्छी नहीं लगती, वह भड़काने में लगे मुख्यमंत्री ने कहा कि आजादी के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार ने किसानों के हित में सबसे अधिक काम किए। किसानों के जीवन में आ रहे व्यापक बदलावों के लिए प्रधानमंत्री निरन्तर प्रयासरत हैं। किसान बिना किसी टैक्स के देश की किसी भी मंडी में अपने उत्पाद बेच सकते हैं। किसान के जीवन में खुशहाली लाने के लिए ही प्रधानमंत्री ने कृषि कानूनों में बदलाव किया है। जिन्हें किसानों की प्रगति अच्छी नहीं लगती, देश का विकास अच्छा नहीं लगता, किसानों के चेहरे पर खुशहाली अच्छी नहीं लगती, वह लोग किसानों को भड़काने में लगे हैं। किसानों की आय दोगुना करने की प्रतिबद्धता स्पष्ट उन्होंने कहा कि कृषि, पशुपालन, बागवानी, मत्स्य पालन इत्यादि क्षेत्रों में समन्वय स्थापित कर किसानों की आय को दोगुना करने की दिशा में सरकार ने अपनी प्रतिबद्धता स्पष्ट की है। केंद्र और उत्तर प्रदेश सरकार के प्रयासों से किसानों के जीवन में खुशहाली लाने का कार्य हुआ है। रमाला चीनी मिल चालू कर चौधरी चरण सिंह को सच्ची दी श्रृद्धांजलि मुख्यमंत्री ने कहा कि ने प्रदेश सरकार ने 1.2 लाख करोड़ का बकाया गन्ना मूल्य भुगतान कराया तथा बंद हो चुकीं चीनी मिलों को फिर से शुरू कराया। आज प्रदेश में चीनी मिलों का विस्तारीकरण किया जा रहा है। चौधरी चरण सिंह की कर्मभूमि में बंद रमाला चीनी मिल को चालू करवाकर किसानों को सहूलियत दी गई है। चौधरी चरण सिंह की कर्मभूमि बागपत की रमाला चीनी मिल 30 वर्षों से बंद थी। उस चीनी मिल का नवीनीकरण और विस्तारीकरण नहीं किया गया था। किसानों के नाम पर राजनीति करने वाले लोग सत्ता पर काबिज होते ही मौन हो जाते थे, कभी उनकी चिंता नहीं करते थे। प्रदेश सरकार ने रमाला चीनी मिल चालू कर चौधरी चरण सिंह को सच्ची श्रृद्धांजलि दी है। रमाला में 50 हजार कुंतल प्रतिदिन गन्ना की पेराई हो रही है। सरकार ने चौधरी साहब को सम्मान देने के साथ ही किसानों का भी मान बढ़ाया है। सरकार ने किसान हित में उठाए महत्वपूर्ण कदम मुख्यमंत्री ने कहा कि केन्द्र सरकार की तर्ज पर प्रदेश सरकार ने भी किसान हित में महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं। चाहे वह 36,000 करोड़ से 86 लाख किसानों का ऋणमोचन हो या लम्बित सिंचाई परियोजनाओं को समयबद्ध तरीके से पूरा करने का कार्य, प्रदेश सरकार ने अपनी प्रतिबद्धता स्पष्ट की है। हिन्दुस्थान समाचार/संजय-hindusthansamachar.in