मिशन शक्ति महिला सशक्तिकरण का महत्वपूर्ण माध्यम-कुलपति
मिशन शक्ति महिला सशक्तिकरण का महत्वपूर्ण माध्यम-कुलपति
उत्तर-प्रदेश

मिशन शक्ति महिला सशक्तिकरण का महत्वपूर्ण माध्यम-कुलपति

news

-काशी विद्यापीठ में पांच दिवसीय कार्यशाला का समापन वाराणसी, 23 अक्टूबर (हि.स.)। महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के कुलपति प्रो. टीएन सिंह ने राज्य सरकार के मिशन शक्ति कार्यक्रम की सराहना की है। उन्होंने कहा कि अभियान महिला सशक्तिकरण का महत्वपूर्ण माध्यम है। कुलपति शुक्रवार को विश्वविद्यालय के राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई की ओर से आयोजित पांच दिवसीय कार्यशाला के समापन समारोह को वर्चुअल सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने छात्राओं को आत्मरक्षा के गुर सीखने के लिए प्रेरित कर कहा कि आवश्यकता पड़ने पर इसका प्रयोग भी करें। कार्यशाला में मुख्य अतिथि सेंसई अनीता सिंह एवं सेसइ अखिलेश रावत ने ऑडियो वीडियो के माध्यम से प्रदर्शन कर छात्राओं को आत्मरक्षा का गुर सिखाया। साथ ही शारीरिक स्वास्थ्य के महत्व को भी बताया। कार्यशाला के पूर्व के दिनों में भी वरिष्ठ शिक्षक एवं प्रशिक्षकों ने वर्चुअल नारी सशक्तिकरण की समग्र व्याख्या प्रस्तुत की। इनमें रायपुर दर्शनशास्त्र की विभागाध्यक्ष प्रोफेसर रंजना शर्मा, मानविकी की संकायाध्यक्ष एवं दर्शनशास्त्र की अध्यक्षा प्रोफेसर शशि देवी सिंह, महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के समाज कार्य विभाग की प्रोफेसर वंदना सिन्हा, भारतीय काउंसलिंग साइकोलॉजी एसोसिएशन के अध्यक्ष आशुतोष श्रीवास्तव, समाज कार्य विभाग की प्रोफेसर शैला परवीन, शारीरिक शिक्षा विभाग से प्रोफेसर कुंदन सिंह, ललित कला विभाग के डॉक्टर सुनील विश्वकर्मा, अंग्रेजी विभाग से डॉ निशा सिंह ने भाग लिया। कार्यशाला में 70 से अधिक छात्राओं ने प्रतिदिन भाग लिया। इसके पहले समापन कार्यक्रम में समन्वयक डॉ केके सिंह ने अतिथियों का स्वागत और संचालन कार्यशाला की समन्वयक एवं कार्यक्रम अधिकारी डॉ. नंदिनी सिंह ने किया। मिशन शक्ति समिति की सदस्य डॉ ऊर्जस्विता ने कार्यशाला की रिपोर्ट प्रस्तुत की। हिन्दुस्थान समाचार/श्रीधर/दीपक-hindusthansamachar.in