मासूम से दुष्कर्म में पारिवारिक चाचा को 20 वर्ष की कैद
मासूम से दुष्कर्म में पारिवारिक चाचा को 20 वर्ष की कैद
उत्तर-प्रदेश

मासूम से दुष्कर्म में पारिवारिक चाचा को 20 वर्ष की कैद

news

अदालत ने जुर्माने की रकम पीड़िता को देने के दिए निर्देश हमीरपुर, 16 अक्टूबर (हि.स.)। थाना बिवांर के एक गांव में करीब 11 माह पूर्व घर के खेल रही छह वर्षीय मासूम के साथ दुष्कर्म करने के मामले की शुक्रवार को विशेष न्यायाधीश पास्को एक्ट द्वितीय नीरज कुमार महाजन की अदालत में सुनवाई पूरी हुई। अदालत ने अभियुक्त चाचा को 20 वर्ष का कठोर कारावास व 20 हजार रुपये जुर्माना लगाया। अदालत ने जुर्माने की रकम पीड़िता को दिए जाने के आदेश दिए। विशेष लोक अभियोजक पास्को एक्ट के शासकीय अधिवक्ता रुद्र प्रताप सिंह ने शुक्रवार को बताया कि बिवांर थानाक्षेत्र के एक गांव निवासी पीड़िता के पिता ने थाने में तहरीर दी। जिसमें बताया कि 24 नवंबर 2019 की शाम छह बजे उसकी (6) वर्षीय पुत्री घर के सामने खेल रही थी। तभी परिवार का रामदेव निषाद बेटी को बहला फुसलाकर टाफी खिलाने के बहाने अपने घर ले गया। जहां उसके साथ दुष्कर्म किया और घर आकर छोड़ गया। मासूम पीड़िता ने घटना की जानकारी परिजनों को रोकर बताई। अभियुक्त रामदेव पीड़िता का पारिवारिक चाचा लगता है। शुक्रवार को मामले की सुनवाई पूरी होने के बाद विशेष न्यायाधीश पास्को एक्ट द्वितीय नीरज कुमार महाजन की अदालत ने अभियुक्त चाचा को 6 पास्को के अंतर्गत दोषी पाया। अदालत ने अभियुक्त को 20 वर्ष का कठोर कारावास व 20 हजार रुपये अर्थदंड लगाया। अदालत ने जुर्माना की रकम पीड़िता को दिए जाने के आदेश दिए। मिशन शक्ति अभियान के तहत सजा दिलाने में हो रही पैरवी सहायक अभियोजना अधिकारी (एसपीओ) नित्यानंद यादव मिशन शक्ति अभियान के तहत शासन की ओर से महिलाओं व लड़कियों की सुरक्षा व सम्मान के लिए अपराधियों के खिलाफ हर मुकदमे में सजा दिलाने में अग्रणी भूमिका निभा रहे हैं। उन्होंने कहा कि शासन स्तर से मिशन शक्ति अभियान चलाया जा रहा है। कहा कि अभियान अपराधियों को अधिक से अधिक सजा दिलाने के लिए प्रत्येक मुकदमे की पैरवी की जा रही है। हिन्दुस्थान समाचार/पंकज/राजेश-hindusthansamachar.in