माडल बनने का सपना संजोने वाली विवाहिता ने लगाई फांसी, मुस्लिम युवक से किया था विवाह
माडल बनने का सपना संजोने वाली विवाहिता ने लगाई फांसी, मुस्लिम युवक से किया था विवाह
उत्तर-प्रदेश

माडल बनने का सपना संजोने वाली विवाहिता ने लगाई फांसी, मुस्लिम युवक से किया था विवाह

news

वाराणसी, 12 सितम्बर (हि.स.)। भेलूपुर थाना क्षेत्र के बड़ी गैबी विरदोपुर में शनिवार तड़के माडल बनने का सपना संजोने वाली 25 वर्षीय विवाहित युवती ने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। युवती ने मुस्लिम युवक से प्रेम विवाह किया था। सूचना पर मौके पर पुलिस भी पहुंच गई। मोहल्ले में चर्चा रही कि मामला लव जिहाद जैसा रहा। आजाद खयाल की युवती ने भले ही मुस्लिम युवक से शादी की ली लेकिन वह नमाज नही पढ़ना चाहती थी। इसी को लेकर शराबी पति और उसके परिजन युवती पर हाथ छोड़ देते थे। उत्पीड़न से आजिज आकर युवती ने आत्मघाती कदम उठा लिया। ककरमत्ता की पूजा पटेल नामक युवती आजाद खयाल की लड़की थी। पूजा मॉडल बनना चाहती थी। वाराणसी में ही उसका लखनऊ निवासी मो. आफताब सिद्दकी से प्रेम हो गया। युवक दालमंडी में स्थित एक दुकान में कार्य करता था। आफताब पूजा को लेकर घर से भाग गया। दोनों मुम्बई में कुछ दिन रहने के बाद लखनऊ आ गये। लखनऊ में खानाबदोश की जिंदगी जैसे तैसे दोनो जीते रहे। कुछ ही महीनों में दोनों वाराणसी आ गये और विरदोपुर में किराये के मकान में पति-पत्नी के रूप में रहने लगे। यहां पूजा जोया सिद्दकी नाम से रहती थी। आफताब रथयात्रा में कपड़े की दुकान में कार्य कर परिवार का भरण पोषण करता है। कुछ दिन बीतने के बाद आर्थिक और अन्य कारणों से आफताब शराब पीकर पूजा को आये दिन मारने पीटने भी लगा। चर्चा रही कि आफताब की मां पूजा से नमाज पढ़ने के लिए दबाब बनाती थी। कुछ दिनों तक उनका उत्पीड़न सहने के बाद पूजा ने अपनी मां से सम्पर्क स्थापित कर पूरे मामले की जानकारी देती रही। पति और उसके परिजनों के उत्पीड़न को सहने के बावजूद पूजा छठ का पर्व भी मनाती थी और ईद भी। घर की स्थिति बदलने के लिए वह मुम्बई जाकर माडल बनना चाहती थी। सूत्रों के अनुसार पूजा मार्च माह में मुंबई के अपने एक परिचित के पास माडलिंग के लिए अभिनय सीखने गई थी। कोरोना संक्रमण शुरु होने के बाद वह जून माह में अपने घर वापस आ गई थी। इधर वह फिर मुम्बई जाने के लिए पति पर दबाब बना रही थी। मगर यह बात पति को पसदं नही थी। इस बात को लेकर दोनों के बीच विवाद होने पर पति उसके साथ मारपीट करता था। इससे नाराज पूजा ने भोर में अपने कमरे में दुपट्टा के सहारे फांसी लगा ली। दिन चढ़ने पर पूजा के कमरे का दरवाजा नहीं खुला। तो परिजनों ने आवाज दी। कोई प्रतिक्रिया न होने पर परिजनों ने खिड़की से झांककर देखा तो वह फंदे के सहारे लटक रही थी। परिजनों ने तत्काल घटना की जानकारी पुलिस को दी । पुलिस ने शव को फंदे से उतरवाकर पंचनामा कराया। इसके बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। बताया गया कि पूजा को एक तीन साल का बेटा भी है। मां की मौत से मासूम की हाल देख लोग भी गमगीन रहे। हिन्दुस्थान समाचार/श्रीधर/दीपक-hindusthansamachar.in