माकपा ने 11 सूत्रीय मांगों को लेकर राष्ट्रपति और मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन एसडीएम को सौंपा
माकपा ने 11 सूत्रीय मांगों को लेकर राष्ट्रपति और मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन एसडीएम को सौंपा
उत्तर-प्रदेश

माकपा ने 11 सूत्रीय मांगों को लेकर राष्ट्रपति और मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन एसडीएम को सौंपा

news

नजीबाबाद (बिजनौर), 22 सितम्बर (हि.स.)। माकपा ने प्रदेश की बिगड़ती कानून व्यवस्था, किसान विरोधी अध्यादेश, किसान और खेती को बचाने सहित कई मुद्दों को लेकर प्रदर्शन किया। मंगलवार को माकपा ने 11 सूत्रीय मांगों को लेकर राष्ट्रपति और मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन एसडीएम को सौंपा। ज्ञापन में किसान विरोधी तीनों अध्यादेश वापस लेने, किसानों को समस्त कर्ज माफ करने के साथ-साथ फसलों की लागत से डेढ़ गुना दाम दिलने, कोरोना काल में आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को मुफ्त राशन की व्यवस्था करने, कोरोना संकट को देखते हुए आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों को दस हजार रुपये प्रतिमाह देने, मनरेगा मजदूरों की दैनिक मजदूरी 500 रुपये करने, स्वास्थ्य कर्मियों को सुरक्षा उपकरण उपलब्ध कराने, अस्पताल में स्वास्थ्य व्यवस्था दुरुस्त कराने, फर्जी मुकदमे वापस लेने, महिलाओं, दलितों और अल्पसंख्यकों को सुरक्षा प्रदान कराने, किसानों को गन्ना मूल्य भुगतान ब्याज सहित कराने, ग्रामीण क्षेत्रों में आर्थिक रूप से कमजोर विद्यार्थियों को इंटरनेट की निशुल्क व्यवस्था कराने, प्रवासी मजदूरों को रोजगार दिलाने सहित कई मांगों को उठाया गया। इस मौके पर रामपाल सिंह, विजय शर्मा, बिजेंद्र सिन्हा, नदीम शेख, तौफीक अहमद, मौहम्मद अब्बास, अमीर अहमद, युसूफ आजाद आदि मौजूद रहे। हिन्दुस्थान समाचार/रिहान अन्सारी-hindusthansamachar.in