मधुबन बापूधाम योजना: नाइट फूड बाजार की घोषणा के बाद भूखण्ड खरीदारों की बढ़ रही संख्या
मधुबन बापूधाम योजना: नाइट फूड बाजार की घोषणा के बाद भूखण्ड खरीदारों की बढ़ रही संख्या
उत्तर-प्रदेश

मधुबन बापूधाम योजना: नाइट फूड बाजार की घोषणा के बाद भूखण्ड खरीदारों की बढ़ रही संख्या

news

गाजियाबाद, 24 अक्टूबर (हि.स.)। गाजियाबाद विकास प्राधिकरण (जीडीए) की मधुबन बापूधाम योजना में आरडीसी की तर्ज पर फ्री व्हीकल जोन नाइट फूड बाजार खोले जाने की घोषणा के साथ ही इस योजना में भूखण्ड खरीददारों की संख्या तेजी के साथ बढ़ गई है। जीडीए द्वारा लोहियानगर स्थित हिन्दी भवन में हाल ही में निकाले गये लाॅटरी ड्रा पर नजर डाले तो बड़े पैमाने पर लोगों ने विभिन्न वर्ग मीटर साइज में आरक्षित भूखण्ड खरीदे हैं। कोरोना काल में इस योजना में खरीददारों की संख्या काफी कम हो गयी थी। लेकिन, एकाएक खरीददारों की संख्या अब यहां बढ़ने लगी है। 150 मीटर वर्ग में 105 भूखण्ड, 120 वर्ग मीटर में 14 भूखण्ड, 112 वर्ग मीटर में 12 भूखण्ड, 60 वर्ग मीटर में 122 भूखण्ड तथा 40 वर्ग मीटर में 193 भूखण्ड लोगो को आवंटित किये गये हैं। आपको बता दें कि पिछले दिनों आरडीसी राजनगर में आयोजित फ्री व्हीकल जोन नाइट फूड बाजार के उद्घाटन समारोह में जीडीए उपाध्यक्ष कंचन वर्मा ने आरडीसी की तर्ज पर ही फूड बाजार खोले जाने की घोषणा की थी। मधुबन बापूधाम योजना जीडीए की बड़ी व्यवसायिक व गैर व्यवसायिक योजनाओं में है। इस योजना में आवंटियों को लुभाने के लिए जीडीए नयी नयी योजनायें ला रहा है। मधुबन बापूधाम योजना में फ्री व्हीकल जोन फूड बाजार खोले जाने की जीडीए की घोषणा में यहां भवन और भूखण्ड खरीदने के प्रति लोगो में रुझान बढ़ रहा है। जीडीए सचिव संतोष कुमार राय ने बताया कि हाल ही में जीडीए द्वारा आरक्षित श्रेणी में भूखण्डों के आवंटन के लिए लाॅटरी सिस्टम अपनाया गया था। लाॅटरी सिस्टम में पारदर्शिता बनी रहे इसके लिए एक समिति की देखरेख में लाॅटरी पर्ची से आवंटियो के नाम निकाले गये हैं। हिन्दुस्थान समाचार/फरमान/संजय-hindusthansamachar.in