भाजपा सरकार के कार्यकाल में बेटियों का सम्मान पूर्वक जीना हुआ दुश्वार : अखिलेश
भाजपा सरकार के कार्यकाल में बेटियों का सम्मान पूर्वक जीना हुआ दुश्वार : अखिलेश
उत्तर-प्रदेश

भाजपा सरकार के कार्यकाल में बेटियों का सम्मान पूर्वक जीना हुआ दुश्वार : अखिलेश

news

-कहा, मिशन शक्ति का भी पूर्व में किए वादों-निर्देशों, आदेशों की तरह होगा हश्र लखनऊ, 16 अक्टूबर (हि.स.)। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार के कार्यकाल में बेटियों का सम्मान पूर्वक जीना दुश्वार है। आए दिन उनके साथ होनेवाली दुष्कर्म की घटनाओं पर कोई रोक नहीं लग रही है। अराजकता का ऐसा तांडव पहले कभी नहीं देखा गया। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि मुख्यमंत्री ने जैसे-तैसे साढ़े तीन साल से ऊपर के दिन निकाल लिए हैं, उनके अपराध के प्रति जीरो टालरेंस का दावा एक बड़े जीरों में बदल गया है। उनका रोमियो स्क्वाड लापता है। अब चलते-चलाते मुख्यमंत्री जी जिलों में रोल माॅडल चुनने का कथित मिशन शक्ति अभियान चलाने जा रहे हैं। इसका हश्र भी वही होना है जो अब तक उनके वादों-निर्देशों-आदेशों का होता रहा है। अखिलेश ने कहा कि प्रदेश की जनता पूछती है कि आखिर कितने हाथरस, बलिया, झांसी, बलरामपुर और बाराबंकी काण्ड दुहराए जाएंगे। इन सभी काण्डों में बच्चियों से दुष्कर्म के मामलों में पुलिस और प्रशासन की लीपापोती की ही नीति रही है। बच्चियों से बर्बरतापूर्ण कृत्य अमानवीयता की हद, निंदनीय और शर्मनाक हैं। हाथरस में दलित बेटी की दुष्कर्म के बाद नृशंस हत्या के बाद आधीरात में पुलिस ने जबरन उसका दाहसंस्कार कर दिया। घरवालों को उसका मुंह भी देखने नहीं दिया। बाराबंकी में भी बच्ची की दुष्कर्म के बाद हत्या की गई। बलिया में बैरिया क्षेत्र में राशन दुकान के आंवटन के विवाद में भाजपा नेता दिनदहाड़े एक युवक जयप्रकाश पाल की गोली मार कर हत्या कर दी गई। मौके पर मौजूद सीओ और एसडीएम ने आरोपी को पकड़ लिया था फिर भी उसे छोड़ दिया। पुलिस-प्रशासन के अधिकारी के सामने गोली चलाने वाले दुस्साहसी को भाजपा नेता होने के कारण छूट मिल गई। क्षेत्रीय भाजपा विधायक भी हत्यारोपित की पैरवी में उतर आए हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा राज में बेलगाम अपराध, बेखौफ अपराधी इसलिए हैं कि सत्ताधीश ही उन्हें संरक्षण दे रहे हैं। राज्य सरकार माफियाओं के आगे नतमस्तक है। लुटेरों को संरक्षण गरीब को गोली, यही भाजपा सरकार की जनता को देन है। राज्यपाल को प्रदेश में रोज-ब-रोज बढ़ती अराजक स्थिति का संज्ञान लेना चाहिए और अपने संवैधानिक उत्तरदायित्व का निर्वहन करना चाहिए। हिन्दुस्थान समाचार/संजय-hindusthansamachar.in