ब्रज की गलियों को सुन्दर व दीर्घकालिक बनाने के लिए लगाई जाएं पत्थर की पट्टियां-नीलकंठ तिवारी
ब्रज की गलियों को सुन्दर व दीर्घकालिक बनाने के लिए लगाई जाएं पत्थर की पट्टियां-नीलकंठ तिवारी
उत्तर-प्रदेश

ब्रज की गलियों को सुन्दर व दीर्घकालिक बनाने के लिए लगाई जाएं पत्थर की पट्टियां-नीलकंठ तिवारी

news

आगामी 10 से 20 वर्षों में पर्यटकों की संख्या को ध्यान में रखकर योजनाएं की जाएं तैयार लखनऊ, 10 सितम्बर (हि.स.)। प्रदेश के पर्यटन, संस्कृति, धर्मार्थ कार्य एवं प्रोटोकाल विभाग (एमओएस) राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डाॅ. नीलकंठ तिवारी ने गुरुवार को उप्र ब्रज तीर्थ विकास परिषद की वर्ष 2018-19 एवं 2019-20 में स्वीकृत परियोजनाओं की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि ब्रज क्षेत्र की गलियों में इण्टरलांकिंग टाइल्स की जगह पत्थर की पट्टियां लगाई जाएं जोकि गलियों को सुन्दर एवं दीर्घकालिक बनाने में सहायक सिद्ध होती हैं। उन्होंने कहा कि भविष्य में ब्रज क्षेत्र की गलियों का जब भी विकास कार्य किया जाए, तब इण्टरलांकिंग टाइल्स की जगह पत्थर की पट्टियों का उपयोग किया जाए तथा प्रत्येक कार्य को योजनाबद्ध तरीके से किया जाए। डाॅ. तिवारी ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि जनपद मथुरा में श्रीकृष्ण जन्म स्थान पर साउण्ड एवं लाइट शो के लिए उच्च कोटि की स्क्रिप्ट बनवायी जाए जिससे पर्यटकों एवं श्रृद्धालुओं को साउण्ड एण्ड लाइट शो का अविस्मरणीय अनुभव प्राप्त हो सके। उन्होंने कहा कि जनपद मथुरा में गोवर्धन स्थित कुसुम सरोवर में लाइट एवं साउण्ड सिस्टम का कार्य प्रगति पर है। डाॅ. तिवारी ने ब्रज क्षेत्र में साइनेजेज लगवाये जाने के निर्देश दिए तथा भविष्य में प्रस्तावित की जाने वाली योजनाओं की परिकल्पना प्रोफेशनल आर्कीटेक्ट द्वारा आगामी 10 से 20 वर्षों में पर्यटकों की संख्या में होने वाली वृद्धि को ध्यान में रखकर तैयार करायी जाए, जिससे पर्यटकों तथा श्रृद्धालुओं का भ्रमण सुखद हो सकें। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि ब्रज क्षेत्र में संचालित की जाने वाली परियोजनाओं का अनुरक्षण एवं संचालन किसके द्वारा किया जाएगा, यह पूर्व में ही सुनिश्चित कर लिए जाए, जिससे भविष्य में किसी प्रकार की कोई समस्या उत्पन्न न हो। उन्होंने तीर्थ यात्रियों, श्रृद्धालुओं को धार्मिक तथा आध्यात्मिक अनुभव कराये जाने हेतु ब्रज क्षेत्र के प्रमुख स्थानों पर भव्य प्रवेश द्वारों का निर्माण कराये जाने का निर्देश दिया। डाॅ. तिवारी ने कहा कि ब्रज क्षेत्र के सौन्दर्यीकरण एवं विकास कार्यों को कराये जाने से स्थानीय निवासियों को रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे तथा उनके आर्थिक एवं सामाजिक स्तर का उन्नयन होगा एवं देश-विदेश से आने वाले पर्यटकों को स्तरीय पर्यटक सुविधायें प्राप्त हो सकेगी और उनका पर्यटन-अनुभव बेहतर हो सकेगा। उत्तर प्रदेश ब्रज तीर्थ विकास परिषद द्वारा सभी परियोजनाओं की प्रगति तथा निर्माण कार्यों पर आधारित प्रस्तुतीकरण दिया गया, जिसमें उनके द्वारा पूर्ण किए गए परियोजनाओं की समीक्षा की गई। उप्र ब्रज तीर्थ विकास परिषद द्वारा ब्रज क्षेत्र में घाटों एवं कुण्ड का जीर्णोद्धार, सौन्दर्यीकरण का कार्य, पहुंच मार्ग, रसखान समाधि स्थल का पुर्ननिर्माण सौन्दर्यीकरण तथा इण्टरप्रिटेशन सेन्टर का पुर्नविकास, पाथ-वे लाइटिंग, पेयजल व्यवस्था, फसाड लाइटिंग, पार्किंग, सोलर प्लान्ट इत्यादि कार्य कराये जा रहे है। परिषद द्वारा वर्ष 2020-21 की प्रस्तावित परियोजनाओं पर भी चर्चा की गई, जिसके अन्तर्गत वृन्दावन में परिक्रमा मार्ग से देवरहा बाबा घाट तक इण्टरलांकिंग टाइल्स लगाने का कार्य तथा ऑडिटोरियम के निर्माण का कार्य प्रमुख हैं। समीक्षा बैठक में उत्तर प्रदेश बृज तीर्थ विकास परिषद के अध्यक्ष शैलजा कांत मिश्र व सीईओ नागेंद्र सिंह भी उपस्थित रहे। हिन्दुस्थान समाचार/संजय/राजेश-hindusthansamachar.in