बेरोजगारों का सरकार के खिलाफ प्रदर्शन, कांग्रेस ने मांगी भीख
बेरोजगारों का सरकार के खिलाफ प्रदर्शन, कांग्रेस ने मांगी भीख
उत्तर-प्रदेश

बेरोजगारों का सरकार के खिलाफ प्रदर्शन, कांग्रेस ने मांगी भीख

news

बांदा,17 सितंबर( हि.स.)। बेरोजगार दिवस में विभिन्न राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं व बेरोजगार संगठन ने सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर नारेबाजी की और देश भर में बेरोजगारी के लिए सरकार को जमकर कोसा, कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने तो हाथों में कटोरा लेकर भीख मांगते हुए अनोखा प्रदर्शन किया। जिला कांग्रेस कमेटी ने शहर में जुलूस निकाला, जिला कांग्रेस अध्यक्ष राजेश दीक्षित के नेतृत्व में कांग्रेश जनों ने कटोरा हाथों में लिए भीख मांगी, नौजवानों को बेरोजगार करने वाले मोदी इस्तीफा दें, रोजी रोटी दे न सके जो वह सरकार निकम्मी है जैसे नारे लगाते कांग्रेस जन सड़कों में घूमे। जिला कांग्रेस अध्यक्ष राजेश दीक्षित ने अपने संबोधन में कहा कि मोदी योगी दोनों ने नौजवानों की रोजी-रोटी छीनने की मुहिम चला रखी है। कहा जा रहा है कि शिक्षित बेरोजगारों को संविदा में काम दिया जा सकता है वह भी गिने-चुने लोगों का,े सबको नहीं। यह दोनों कह रहे हैं कि पूर्व की सरकारों की तरह अब हम नौकरी नहीं देंगे योगी जी ने तो अब पुलिस स्टाफ को भी कह दिया है कि 50 वर्ष से ऊपर वालों की छुट्टी कर दी जाएगी जबकि यूपी में पुलिस स्टाफ की भारी कमी है। ट्रेनों को भी प्राइवेट सेक्टर में दिया जा रहा है, बैंकों को भी प्राइवेट सेक्टर में देने की तैयारी है जबकि इन बैंकों का इंदिरा जी ने राष्ट्रीयकरण कर प्राइवेट सेक्टर से छीना था। सीमा खान महिला अध्यक्ष ने कहा कि आज महिलाएं रोजगार के लिए घूम रही हैं। जिला कांग्रेस अध्यक्ष के साथ जिला उपाध्यक्ष मुमताज अली, बी लाल जिला महासचिव, कुतैबा जमा, जिला प्रवक्ता साकेत बिहारी मिश्रा राज बहादुर गुप्ता युवा नेता सैयद अल्तमश, मंजू निषाद, रेखा वर्मा, असमत जहां अशोक वर्धन सुनील चैरसिया,संतोष कुमार द्विवेदी, धीरेंद्र सिंह पटेल, राजाराम दद्दा, गीता रानी, कालीचरण निगम, सुखदेव गांधी आदि कांग्रेस जन उपस्थित रहे। इसी तरह प्रतियोगी छात्र बेरोजगार संघ ने संविदा नियमावली 2020 का विरोध किया। कलेक्ट्रेट पहुंचकर जिला अधिकारी को ज्ञापन देने के लिए अड़े रहे बेरोजगारों का कहना है कि संविदा नियमावली 2020 के प्रस्ताव को सरकार वापस ले ,सभी लंबित भर्तियां शीघ्र पूरी की जाए, 50 साल के बाद जबरन रिटायरमेंट का नियम वापस वही आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने सरकारी नौकरियों में वर्ग ख एवं ग की संविदा के प्रस्ताव को तत्काल वापस लेने की मांग की। हिंदुस्थान समाचार/ अनिल/मोहित-hindusthansamachar.in